उप्र निकाय चुनाव : भाजपा का शानदार प्रदर्शन, कांग्रेस, सपा का निराशाजनक

लखनऊ,  उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव की तरह नगर निकाय चुनावों में भी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने जोरदार जीत हासिल की है। महापौर की कुल 16 सीटों में से 14 भाजपा के पक्ष में, जबकि अलीगढ़ और मेरठ की सीट पर बसपा ने कब्जा जमाया है। सपा और कांग्रेस का खाता नहीं खुल सका है। महापौर के अलावा नगर निगम पार्षदों के 1300 पदों में से अब तक घोषित 1005 परिणामों में भी भाजपा 459, सपा 157, बसपा 126 और कांग्रेस 78 सीटें जीत चुकी हैं।

अयोध्या-फैजाबाद नगर निगम मेयर पद पर भाजपा प्रत्याशी ऋषिकेश जायसवाल ने अपनी निकटतम प्रतिद्वंद्वी सपा की गुलशन बिंदु को 3601 मतों से पराजित किया।

वाराणसी नगर निगम महापौर पद पर भाजपा प्रत्याशी मृदुला जायसवाल ने अपनी निकटतम प्रतिद्वंद्वी कांग्रेस की शालिनी को 78,843 मतों से पराजित किया।

सहारनपुर नगर निगम मेयर पद पर भाजपा प्रत्याशी संजीव वालिया ने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी बसपा के फजल उर रहमान को दो हजार मतों से पराजित किया।

मुरादाबाद नगर निगम महापौर पद पर भाजपा प्रत्याशी विनोद अग्रवाल ने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी कांग्रेस के मोहम्मद रिजवान कुरैशी को 21 हजार 635 मतों से पराजित किया।

अलीगढ़ नगर निगम मेयर पद पर बसपा प्रत्याशी मुहम्मद फुरकान ने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी भाजपा के राजीव कुमार को 10 हजार 11 मतों से पराजित किया।

झांसी नगर निगम महापौर पद पर भाजपा प्रत्याशी रामतीर्थ सिंघल ने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी बसपा के बृजेन्द्र कुमार व्यास को 16 हजार 373 मतों से पराजित किया।

फिरोजाबाद नगर निगम महापौर पद पर भाजपा प्रत्याशी नूतन राठौर ने अपनी निकटतम प्रतिद्वंद्वी आल इण्डिया मजलिस इत्तेहादुल मुस्लिमीन की मसरूर फातिमा को 42 हजार 396 मतों से पराजित किया। नवगठित मथुरा नगर निगम महापौर पद पर भाजपा प्रत्याशी मुकेश ने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी कांग्रेस के मोहन सिंह को 22 हजार 108 मतों से पराजित किया।

गोरखपुर नगर निगम महापौर पद पर भाजपा प्रत्याशी सीताराम जायसवाल ने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी सपा के राहुल को 75 हजार 972 मतों से पराजित किया। वर्ष 2012 के नगर निकाय चुनाव में भाजपा ने 12 में से 10 महापौर सीटें जीती थीं।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राज्य के नगर निकाय चुनाव में भाजपा को मिली जीत का श्रेय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की नीतियों और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की रणनीति को देते हुए इसके लिए पार्टी के तमाम नेताओं और अपने मंत्रिमण्डलीय सहयोगियों को धन्यवाद दिया।

योगी ने संवाददाताओं से कहा कि प्रदेश नगर निकाय चुनाव में भाजपा को मिली ऐतिहासिक विजय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के विकास के विजन और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की रणनीतिक कुशलता का परिणाम है।

उन्होंने कहा कि निकाय चुनावों का परिणाम प्रधानमंत्री द्वारा भारत को आर्थिक महाशक्ति बनाने के लिए उठाए गए कदमों पर जनता की मुहर है। उन्होंने कहा, “मैं विश्वास व्यक्त करता हूं कि हम उम्मीदों पर खरा उतरेंगे। वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव में भाजपा शत प्रतिशत परिणाम पाने के लिए अग्रसर होगी।”

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र नाथ पांडेय ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नीतियों एवं उप्र के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के करिश्माई नेतृत्व की वजह से भाजपा को जीत मिली है। इस जीत से यह साबित हो गया है कि जनता का विश्वास अभी भी भाजपा में कायम है।

लोकसभा एवं विधानसभा चुनाव में निराशाजनक प्रदर्शन करने वाली कांग्रेस एवं सपा को एक बार फिर निराशा हाथ लगी। मेयर के चुनाव में दोनों पार्टियों का खाता नहीं खुल पाया है। हालांकि सपा ने नगर पालिका के चुनाव में ठीक ठाक प्रदर्शन किया है।

गौरतलब है कि प्रदेश के 16 नगर निगमों, 198 नगर पालिकाओं और 438 नगर पंचायतों के लिए तीन चरणों में गत 22, 26 और 29 नवम्बर को कुल करीब 52़5 प्रतिशत मतदान हुआ था। नगर निकाय चुनाव में पहली बार सभी पार्टियों ने अपने चुनाव चिन्ह पर चुनाव लड़ा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here