स्वच्छता मुद्दे पर तिहाड़ जेल अधिकारी को समन

नई दिल्ली,  एक न्यायालय ने मंगलवार को तिहाड़ जेल अधीक्षक को जेल में बंद गैंगस्टर नीरज सहरावत की कैदियों के लिए स्वच्छ स्थिति सुनिश्चित कराने की याचिका के जवाब में प्रतिक्रिया देने के लिए अदालत के समक्ष पेश होने के लिए कहा है। अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश राकेश पंडित ने 1 नवंबर को अधिकारी को न्यायालय के समक्ष पेश होने और सहरावत ऊर्फ नीरज बवाना के जेल में ‘अमानवीय’ स्थिति की शिकायत पर जवाब देने के लिए कहा है।

बवाना के वकील एम.एस. खान ने न्यायालय से उनके मुवक्किल और अन्य कैदियों के लिए जेल में बेहतर और स्वच्छ सुविधा मुहैया कराने के लिए जेल अधिकारियों को निर्देश देने का आग्रह किया।

खान ने न्यायालय से जेल जाने और वहां कैदियों से मुलाकात करने के लिए स्थानीय आयुक्त नियुक्त करने का आग्रह किया।

बवाना ने अपनी याचिका में कहा वह अन्य 45 कैदियों के साथ जेल नंबर 1 के उच्च जोखिम वाले वार्ड में बंद है और उनलोगों ने जेल में बुनायादी सुविधाओं, समुचित आहार और रहने व मेडिकल सुविधाओं के लिए एकबार भूख हड़ताल भी की थी।

उसने आरोप लगाया कि कैदियों को 24 घंटे जेल में रखा जाता है और उन्हें स्वच्छ हवा लेने नहीं दिया जाता है।

गैंगस्टर ने दावा किया कि जेल के वार्ड से बदबू आती है और यहां हजारों कीड़े फैल गए हैं व दीवार से प्लास्टर उखड़ गए हैं।

बवाना अपने अन्य सहयोगियों के साथ संगठित अपराध सिंडिकेट चलाने के लिए महाराष्ट्र संगठित अपराध नियंत्रण कानून (मकोका) के अंतर्गत मामले में जेल में बंद है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here