पूर्व से लिखी स्क्रिप्ट  में नीतीश कुमार ने एक बार फिर ली मुख्यमंत्री पद की शपथ

नीतीश कुमार की पार्टी जनता दल यू और भारतीय जनता पार्टी के बीच पिछले एक साल से पक रही खिचड़ी हांडी से उतर आई और गाजे-बाजे के साथ खा भी ली। नीतीश कुमार ने गुरूवार को छठवीं बार मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। सुशील मोदी बिहार के नए उप मुख्यमंत्री बने हैं। नीतीश कुमार और लालू यादव का गठबंधन टूटने की वजह भी उनके एक उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव थे। नीतीश कुमार को बिहार में सुशासन बाबू कहा जाता है। सुशासन का चमकदार चेहरा होने के बाद भी बिहार विधानसभा के चुनाव में उनकी पार्टी को मतदाताओं ने सबसे बड़ी पार्टी के तौर पर स्वीकार नहीं किया था।

सबसे बड़ी पार्टी राष्ट्रीय जनता दल है

 

बिहार में सबसे बड़ी पार्टी लालू प्रसाद यादव की राष्ट्रीय जनता दल है। बुधवार को राजनीतिक घटनाक्रम इतनी तेजी से चला कि सबसे बड़ी पार्टी होने के बाद भी लालू प्रसाद यादव अलग-थलग पड़ गए। नीतीश कुमार भारतीय जनता पार्टी की मदद से एक बार फिर मुख्यमंत्री की कुर्सी हासिल करने में सफल हो गए। बहार के राजभवन स्थित राजेंद्र मंडप में आयोजित एक सादे समारोह में 10 बजे राज्यपाल केशरी नाथ त्रिपाठी ने नीतीश कुमार को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई। स समारोह में भाजपा नीत राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) के कई नेता शामिल हुए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here