शशिकला व दिनाकरन के रिश्तेदारों के ठिकानों पर छापे

चेन्नई,  आयकर विभाग (आईटी) के अधिकारियों ने जेल में बंद ऑल इंडिया अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (एआईएडीएमके) नेता वी.के. शशिकला और उनके भतीजे टी.टी.वी. दिनाकरन के संबंधियों और कई शहरों में स्थित उनसे संबंधित संस्थानों पर गुरुवार को छापेमारी की। विभाग ने कुल 187 ठिकानों पर छापा मारा है। आईटी अधिकारियों ने पहचान न जाहिर करने की शर्त पर आईएएनएस से कहा कि तमिलनाडु, बेंगलुरू, हैदराबाद, दिल्ली व दूसरी जगहों पर हुई इस तलाशी अभियान में आईटी अधिकारियों के दस समूह जुटे रहे। यह अभियान सुबह 6 बजे शुरू हुआ।

छापेमारी वाली जगहों में शशिकला के पति एम नटराजन के तंजावुर, कोडनाड स्थित आवास, दिवंगत मुख्यमंत्री जे.जयललिता के टी एस्टेट, जाज सिनेमाज, मिडास डिस्टिलेरीज, कोयंबटूर के नीलगिरि फर्नीचर, जया टीवी व नामाधु एमजीआर शामिल रहे।

उन्होंने कहा कि इस छापेमारी का संबंध नोटबंदी के बाद उनसे संबंधित फर्जी कंपनियों के जरिए अज्ञात नकदी को ठिकाने लगाने के बारे में हैं। आयकर अधिकारी ने कहा कि आयकर विभाग भारत में और अन्य एजेंसियां भारत के बाहर ठिकाने लगाए गए धन की तफ्तीश करेंगी।

जया टीवी एक सैटेलाइट चैनल है व नमाधु एमजीआर एक तमिल दैनिक है। ये एआईएडीएमके के मुखपत्र हैं। इसका मौजूदा समय में नियंत्रण शशिकला गुट के पास है।

जयललिता के निधन से पहले दोनों एआईएडीएमके व राज्य की उपलब्धियों को दिखाते थे। हालांकि, पार्टी के तीन गुटों में टूटने के बाद वे सिर्फ शशिकला-दिनाकरन गुट को विशेष तौर पर दिखाते हैं। पार्टी के दूसरे गुट में मुख्यमंत्री के.पलनीस्वामी व मौजूदा समय में उपमुख्यमंत्री ओ.पन्नीरसेल्वम का गुट है।

पन्नीरसेल्वम ने उपमुख्यमंत्री बनने के बाद सत्तारूढ़ गुट के लिए दोनों मीडिया का अधिग्रहण करने की मांग की।

इसके जवाब में दिनाकरन ने आईटी की छापेमारी को राजनीतिक रूप से प्रेरित बताया और कहा कि वह केंद्र सरकार के इस तरह की कार्रवाई से भयभीत नहीं होंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here