रूस की जीत के बाद मिस्र और उरुग्वे के बीच खेला जाएगा दूसरा मैच :फीफा वर्ल्ड कप 2018

फीफा वर्ल्ड कप 2018 का शुरू हो चुका है। गुरुवार को पहले दिन हुए टूर्नामेंट में मेजबान रूस ने सऊदी अरब को 5-0 से हराकर जीत के साथ शुरुआत की। शुक्रवार को फुटबॉल विश्व कप में तीन मैच खेले जाएंगे।

ग्रुप ए
पहला मुकाबला ग्रुप ए में मिस्र और उरुग्वे के बीच खेला जाएगा। यह मैच भारतीय समयानुसार शाम साढ़े पांच बजे शुरू होगा। जानकारी के लिए बता दें कि उरुग्वे दो बार विश्व कप जीत चुकी है वहीं मिस्र ने लगभग 28 साल बाद विश्व कप के लिए क्वॉलिफाइ किया है। मिस्र के सुपर स्टार फारवर्ड मोहम्मद सालाह के फिट हो जाने की खबर के साथ मिस्र की टीम दो बार के पूर्व चैंपियन उरूग्वे के खिलाफ शुक्रवार को फीफा विश्वकप के ग्रुप ए के मुकाबले में 28 वर्ष का सूखा समाप्त करने के इरादे से उतरेगी।

 

ऊरुग्वे ने बीते दो विश्व कप में शानदार प्रदर्शन किया था। 2010 में खेले गए विश्व कप में तो इस साउथ अमेरिकी देश ने चौथा स्थान हासिल किया था। उरुग्वे की टीम ज्यादा अनुभवी है, हालांकि टीम का दारोमदार एक बार फिर स्टार स्ट्राइकर लुइस सुआरेज पर है। मिस्र की टीम सभी चीजों से भलीभांती परिचित है, लेकिन उसकी कोशिश अच्छा परिणाम हासिल करने की होगी।

ग्रुप बी
दूसरा मैच ग्रुप बी से मोरक्को और ईरान के बीच होगा। यह मैच भारतीय समयानुसार रात 8 बजकर तीस मिनट पर शुरू होगा। ईरान को एशिया की मजबूत टीम माना जाता है। दोनों टीमें ग्रुप-बी के पहले मैच में सेंट पीटर्सबर्ग स्टेडियम में एक दूसरे के सामने होंगी। मोरक्को ने इससे पहले 1998 में विश्व कप में जगह बनाई थी वहीं ईरान ने लगातार दूसरी बार विश्व कप के लिए क्वॉलिफाइ किया है।

तीसरा मैच
दिन का आखिरी मैच जिसे स्टार मैच भी कहा जा रहा है वह पुर्तगाल और स्पेन के बीच होगा। भारत के वक्त के हिसाब से यह मैच रात 11 बजकर तीस मिनट पर शुरू होगा। यह पुर्तगाल के स्टार फुटबॉलर क्रिस्टियानो रोनाल्डो का संभवत: आखिरी वर्ल्ड हो सकता है। पुर्तगाल को खिताब का प्रबल दावेदार माना रहा है। उसने दो साल पहले फ्रांस को हराकर यूरोपीय खिताब जीता था।

रोनाल्डो के नाम पर 81 गोल दर्ज है। पुर्तगाल को इसके बाद ईरान और मोरक्को की अपेक्षाकृत कमजोर टीमों का सामना करना है। पुर्तगाल और स्पेन के खिलाड़ी एक दूसरे के खेल को अच्छी तरह से समझते हैं और ऐसे में यह मुकाबला रोमांचक होने की संभावना है। यह देखना भी दिलचस्प होगा कि स्पेन की टीम कोच को शुरुआती मैच से दो दिन पहले बर्खास्त किये जाने से उबर पाती है या नहीं। यह उसके नये कोच फर्नांडो हिरेरो के लिये भी परीक्षा का समय होगा जिन्हें कम समय में बड़ी भूमिका निभानी होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here