कांग्रेस के कहने पर सिब्बल ने अदालत में रखा था पक्ष : शाह

नई दिल्ली,  रामजन्म भूमि-बाबरी मस्जिद मामले के याचिकाकर्ताओं में से एक का कहना है कि मुस्लिम इस मामले का शीघ्र समाधान चाहते हैं, जिसपर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अध्यक्ष अमित शाह ने बुधवार को कहा कि सर्वोच्च न्यायालय से मामले की सुनवाई को 2019 के आम चुनाव के बाद करने की मांग से यह सबित हो गया है कि कपिल सिब्बल कांग्रेस की तरफ से बोल रहे थे। शाह ने एक ट्वीट में कहा, “अब सुन्नी वक्फ बोर्ड का कहना है कि कपिल सिब्बल ने शीर्ष अदालत में जो भी कहा, वे उससे सहमत नहीं हैं। इससे यह निश्चित होता है कि सिब्बल ने कांग्रेस नेता के रूप में पार्टी हाईकमान के कहने पर यह बात रखी है।”

उन्होंने कहा, “राम मंदिर मुद्दे पर कांग्रेस का दिखावा शर्मनाक है।”

वरिष्ठ अधिवक्ता कपिल सिब्बल ने मंगलवार को मामले में वक्फ बोर्ड का पक्ष रखा था और शीर्ष अदालत से मामले की सुनवाई जुलाई 2019 के बाद करने को कहा था।

भाजपा ने सिब्बल के इस रुख की आलोचना की और दावा किया कि उन्होंने ऐसा कांग्रेस के कहने पर किया। हालांकि कांग्रेस ने सिब्बल के बयान से दूरी बना ली और कहा कि वह इस मामले में जल्द फैसला चाहती है।

बाबरी मस्जिद के वादी हाजी महबूब ने बुधवार को कहा कि मुस्लिम इस दशकों पुराने विवाद का जल्द समाधान चाहते हैं। साथ ही उन्होंने सिब्बल के रुख का खंडन किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here