फिलीपींस में 31वां आसियान सम्मेलन शुरू

मनीला,  दक्षिणपूर्वी एशियाई देशों के संघ (आसियान) का 31वां शिखर सम्मेलन और इससे संबंधित बैठकें सोमवार से शुरू हो गईं। आसियान के 10 सदस्य देश और वार्ताकार सुरक्षा, सहयोग और क्षेत्रीय एकीकरण पर चर्चा करेंगे।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, आसियान के 2017 के अध्यक्ष देश फिलीपींस ने इस साल के सम्मेलन का विषय ‘पार्टनरशिप फॉर चेंज, एंगेजिंग द वर्ल्ड’ रखा है। इस बार सुरक्षा और क्षेत्रीय एकीकरण एजेंडे में सर्वोपरि हैं।

फिलीपींस के राष्ट्रपति रॉड्रिगो दुतेर्ते ने सम्मेलन के उद्घाटन समारोह में कहा कि अगले दो दिनों के दौरान आसियान देशों के नेताओं और उनके वार्ता साझेदारों के पास क्षेत्रीय एवं महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा करने के लिए सर्वोत्तम अवसर होंगे।

उन्होंने कहा, “आतंकवाद और हिंसक चरमपंथ से क्षेत्र में शांति, स्थिरता और सुरक्षा को खतरा है क्योंकि इन चुनौतियों की कोई सीमाएं नहीं हैं।”

उन्होंने यह भी कहा कि चोरी और समुद्र में डकैती से भी क्षेत्रीय एवं वैश्विक वाणिज्य के विकास में बाधा होती है।

दुतेर्ते ने कहा कि गैर पारंपरिक सुरक्षा मुद्दे क्षेत्रीय अर्थव्यवस्थाओं की समृद्धि, हमारे संस्थानों की निष्ठा और इससे भी महत्वपूर्ण आसियान देशों के नागरिकों की सुरक्षा के लिए चुनौती हैं।

दुतेर्ते ने क्षेत्रीय सहयोग पर कहा, “एशियाई देशों के साथ मिलकर काम करना शानदार रहा है और वार्ताकारों की मदद से एशियाई समुदाय को आगे ले जाने और विभिन्न क्षेत्रों में सहयोग बढ़ाने में मदद मिली है।”

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी आसियान सम्मेलन के उद्घाटन समारोह में शिरकत की।

आसियान से संबंधित कई बैठकें सोमवार और मंगलवार को होंगी। इनमें आसियान प्लस वन सम्मेलन, आसियान प्लस थ्री (चीन, जापान और दक्षिण कोरिया) सम्मेलन और पूर्वी एशिया सम्मेलन शामिल हैं।

आसियान की स्थापना 1967 में हुई थी। इस समूह में ब्रुनेई, कंबोडिया, इंडोनेशिया, लाओस, मलेशिया, म्यांमार, फिलीपींस, सिंगापुर, थाईलैंड और वियतनाम हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here