वरिष्ठ विधायक को प्रोटेम स्पीकर बनाने की परंपरा से हटी कमलनाथ सरकार

0
116

मध्यप्रदेश विधानसभा के नवनिर्वाचित विधायकों को कांगे्रस विधायक दीपक सक्सेना प्रोटेम स्पीकर के तौर पर शपथ ग्रहण कराएंगे। विधानसभा का सत्र सात जनवरी को शुरू हो रहा है। संवैधानिक प्रावधानों के तहत राज्यपाल आनंदी बेन पटेल ने आज छिंदवाड़ा के विधायक दीपक सक्सेना को प्रोटेम स्पीकर के तौर पर शपथ दिलाई। दीपक सक्सेना चौथी बार विधानसभा के सदस्य निर्वाचित हुए हैं। मध्यप्रदेश विधानसभा की परंपरा के अनुसार प्रोटेम स्पीकर की जिम्मेदारी उस विधायक को दी जाती है, जो कि सबसे अधिक बार निर्वाचित हुआ है। मौजूदा पंद्रहवीं विधानसभा में गोपाल भार्गव एक मात्र ऐसे सदस्य हैं जो लगातार आठवीं बार निर्वाचित हुए हैं। श्री भार्गव वर्ष 1985 से विधानसभा के सदस्य हैं।

क्या विधानसभा उपाध्यक्ष का पद भाजपा को मिल पाएगा


कांगे्स ने जिस तरह से परंपरा से हटकर प्रोटेम स्पीकर की नियुक्ति की है, उसके बाद यह आशंका भी व्यक्त की जा रही है कि भाजपा को विधानसभा उपाध्यक्ष का पद भी नहीं दिया जाएगा? राज्य में विधानसभा उपाध्यक्ष का पद विपक्ष को देने की परंपरा है। पिछली विधानसभा में डॉ.राजेन्द्र कुमार सिंह विधानसभा उपाध्यक्ष थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here