मूत्र पीने को मजबूर तमिलनाडु के किसान

 तमिलनाडु के किसानों ने आज सरकार का ध्यान अपनी दुर्दशा की ओर दिलाने के लिए प्रदर्शन के अनोखे तरीके के कारण लोगों का ध्यान अपनी और आकर्षित किया है किसानों ने अपनी व्यथा को व्यक्त करने के लिए मूत्र पीया।
उनका प्रदर्शन चलते हुए 39 दिनों से अधिक समय हो गया है पिछले कई दिनों से वे अपना आधा मूंछ और सिर मुंडवा रहे हैं, अपने मुंह में सांप और चूहा लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं। वे नकली अंत्येष्टि कर रहे हैं, खुद को कोडे मार रहे हैं और रिण के दबाव के कारण खुदकुशी करने वाले किसानों की प्रतीकात्मक खोपडी लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं।
किसानों का प्रदर्शन आज 40 वें दिन में प्रवेश कर गया। किसानों ने आज पुलिस द्वारा रोके जाने के बावजूद मूत्र  पीया।
वे रिण माफी, सूखा राहत पैकेज को संशोधित करने और उनके उत्पाद के लिए बेहतर समर्थन मूल्य की मांग कर रहे हैं।
प्रदर्शन की अगुवाई कर रहे पी अय्याकन्नू ने बताया, ‘‘केन्द्र सरकार हमें पानी नहीं दे रही है। ऐसे में हम मूत्र पी रहे हैं।’’
प्रदर्शनकारियों ने कल कहा था कि अगर केन्द्र हमारी समस्या का एक दिन के भीतर समाधान करने में असफल रहती है तो वे मूत्र पीएंगे।
वे 10 अप्रैल को यहां प्रधानमंत्री  कार्यालय के सामने अपनी मांगों को लेकर नग्न हो गये थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here