नीरज चोपड़ा भाला फेंक में स्वर्ण जीतने वाले पहले भारतीय बने!

राष्ट्रमंडल खेल
इतिहास – एशली कूपर वे प्रथम व्यक्ति थे जिन्होंने सदभावना को प्रोत्साहन देने और पूरे ब्रिटिश राज के अंदर अच्छे संबंध बनाए रखने के लिए एक अखिल ब्रितानी खेल कार्यक्रम आयोजित करने के विचार को प्रस्तुत किया। वर्ष 1928 में कनाडा के एक प्रमुख एथलीट बॉबी रॉबिन्सन को प्रथम राष्ट्र मंडल खेलों के आयोजन का भार सौंपा गया। ये खेल 1930 में हेमिल्टन शहर, ओंटेरियो, कनाडा में आयोजित किए गए और इसमें 11 देशों के 400 खिलाड़ियों ने हिस्सा‍ लिया।
तब से हर चार वर्ष में राष्ट्रमंडल खेलों का आयोजन किया जाता है। इन खेलों के अनेक नाम हैं जैसे ब्रिटिश एम्पायर गेम्स, फ्रेंडली गेम्स और ब्रिटिश कॉमनवेल्थ गेम्स।
21वें राष्ट्रमंडल खेल 2018
गोल्ड कोस्ट में चल रहे 21वें कॉमनवेल्थ खेलों के आखिरी और 10वें दिन भारत पर स्वर्ण पदकों की बरसात के बीच नीरज चोपड़ा ने इतिहास रच दिया है. नीरज चोपड़ा भाला फेंक में स्वर्ण पदक जीतने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी बन गए हैं. कुल मिलाकर अब भारत के पदकों की संख्या 48 हो गई है. इसमें ,
21 स्वर्ण
 13 रजत
 14 कांस्य

मुक्केबाजी
मैरी कॉम ने शनिवार को महिला मुक्केबाजी की 45-48 किलोग्राम भारवर्ग के स्पर्धा का स्वर्ण अपने नाम कर लिया है. इस दिग्गज मुक्केबाज ने फाइनल में इंग्लैंड की क्रिस्टिना ओ हारा को 5-0 से मात देकर पहली बार राष्ट्रमंडल खेलों में पदक हासिल किया.

वहीं, पुरुष वर्ग में गौरव सोलंकी ने शनिवार को मुक्केबाजी में दूसरा स्वर्ण पदक दिलाया है गौरव ने पुरुषों की 52 किलोग्राम भारवर्ग स्पर्धा के फाइनल में उत्तरी आयरलैंड के ब्रेंडन इरवाइन को 4-1 से मात देते हुए सोने का तमगा हासिल किया, तो मनीष कौशिक 60 किग्रा भार वर्ग में हार गए और उन्हें रजत से संतोष करना पड़ा. इस वर्ग में एक और अन्य मुक्केबाज भारत के मुक्केबाज अमित पंघाल 46-49 किलोग्राम भारवर्ग स्पर्धा के फाइनल में हार कर रजत पदक से संतोष करना पड़ा है.अमित को इंग्लैंड के गलाल याफाई को 3-1 से मात देते हुए उनके स्वर्ण के सपने को तोड़ दिया!

एथलेटिक्स
भारत के नीरज चोपड़ा ने इतिहास रच दिया है. उन्होंने भाला फेंक में वह कारनामा कर दिखाया, जो उनसे पहले इन खेलों के इतिहास में कोई और भारतीय नहीं ही कर सका. नीरज चोपड़ा ने अपने चौथे प्रयास में 86.47 मीटर जेवलिन फेंका. और इस दूरी को कोई और खिलाड़ी नहीं ही भेद सका.
शूटिंग
सजींव राजपूत ने पुरुषों की 50 मी. राइफल थ्री पोजीशन में सटीक निशाना साधते हुए स्वर्ण पदक पर कब्जा किया. संजीव ने बेलमोंट शूटिंग सेंटर पर कुल 454.5 का स्कोर करते हुए गेम रिकार्ड के साथ स्वर्ण पर कब्जा जमाया. इसी स्पर्धा में भारत के चैन सिंह को पांचवां स्थान मिला.
महिलाओं की 50 मीटर राइफल थ्री पोजिशन स्पर्धा में भारत की तेजस्विनी सावंत ने रेकॉर्ड बनाते हुए गोल्ड मेडल जीता। उन्होंने 457.9 स्कोर हासिल करते हुए कॉमनवेल्थ गेम्स का रेकॉर्ड बनाया। इस इवेंट का सिल्वर मेडल भी भारत के नाम रहा। अंजुम मुद्गल ने 455.7 स्कोर के साथ दूसरे नंबर पर रहीं। भारत का यह 15 वां गोल्ड मेडल है।

बैडमिंटन
भारत की दिग्गज महिला बैडमिंटन खिलाड़ी सायना नेहवाल ने कैरारा स्पोर्ट्स एरेना पर खेले गए मैच में स्कॉटलैंड की कस्र्टी गिल्मर को कड़े मुकाबले में 21-14, 18-21, 21-17 से और वर्ल्ड नंबर-3 सिंधु ने कनाडा की मिशेल को 21-18, 21-8 से मात देते हुए फाइनल में जगह बनाई.

वहीं पुरुष वर्ग में श्रीकांत ने कैररा स्पोटर्स एरेना में खेले गए मैच में इंग्लैंड को राजीव ओसफ को 21-10, 21-17 से हराकर फाइनल में जगह बना ली.

टेबल टेनिस
मनिका बत्रा ने टेबल टेनिस के महिला एकल वर्ग के फाइनल में जगह बना ली है.मनिका ने ओक्सेनफोर्ड स्टूडियोज में खेले गए सेमीफाइनल मुकाबले में सिंगापुर की तियानवेई फेंक को 4-3 से मात देकर फाइनल में प्रवेश कर लिया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here