निशानेबाजी मामले पर प्रोफेसर विजय कुमार मल्होत्रा ने राठौड़, बत्रा को लिखा पत्र

अखिल भारतीय खेल परिषद (एआईसीएस) के अध्यक्ष प्रोफेसर विजय कुमार मल्होत्रा ने 2022 राष्ट्रमंडल खेलों से निशानेबाजी को हटाने के मुद्दे को सख्ती से लेने का आग्रह करते हुए केंद्रीय खेल मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ और भारतीय ओलम्पिक महासंघ (आईओसी) अध्यक्ष नरिंदर बत्रा को पत्र लिखा है। मल्होत्रा ने 23 अप्रैल 2018 को एक प्रेस विज्ञप्ति के जरिए इसकी जानकारी दी।
उल्लेखनीय है कि बर्मिघम में होने वाले 2022 राष्ट्रमंडल खेलों में निशानेबाजी प्रतियोगिता को शामिल नहीं किया गया है। इस फैसले पर मल्होत्रा के साथ-साथ भारतीय राष्ट्रीय राइफल संघ (एनआरएआई) के अध्यक्ष रनिंदर सिंह भी आपत्ति जताई है। उन्होंने भी इसके लिए अंत तक लड़ने का वादा किया।

मल्होत्रा ने अपने पत्र में लिखा है कि भारत पहले तीरंदाजी में अधिक पदक जीत रहा था, तो उसे 2010 राष्ट्रमंडल खेलों के बाद 2014 में हुए राष्ट्रमंडल खेलों से हटा दिया गया था। निशानेबाजी में अधिक पदक जीतने के बाद अब इसे भी 2022-राष्ट्रमंडल खेलों से हटा दिया गया है।
मल्होत्रा ने कहा, “इनके अलावा, भारत बैडमिंटन, मुक्केबाजी, कुश्ती और भारोत्तोलन में अधिक पदक जीत रहा है, तो अगर इनमें से भी किसी प्रतियोगिता को 2026 में होने वाले राष्ट्रमंडल खेलों में हटाए जाने पर हैरानी नहीं होगी।”
मल्होत्रा ने आशा जताई है कि सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था के रूप में उभरते हुए देश के नाते भारत अपने हितों की रक्षा के लिए राष्ट्रमंडल खेल महासंघ पर राजनयिक दबाव डालने में सक्षम होंगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here