क्लीन मनी : 60 हजार लोग आयकर के रडार पर 

नोटबंदी के बाद कालेधन का पता लगाने के लिए आयकर विभाग ने  आज स्वच्छ धन अभियानह्ण का दूसरा चरण शुरू किया है। इसके तहत 60 हजार लोगों की जांच की जाएगी। केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड ने कहा है कि उसने नौ नवंबर 2016 से इस वर्ष 28 फरवरी के बीच करीब 9,334 करोड की अघोषित आय का पता लगाया है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पिछले वर्ष आठ नवंबर को नोटबंदी की घोषणा की थी।
बोर्ड के अनुसार नोटबंदी के दौरान इनकी पहचान की गयी है। इनमें से 1300 से अधिक जोखिम वाले लोग है।
        ‘क्लीन मनी’ अभियान के तहत बोर्ड ने जिन 60 हजार से अधिक लोगों को नोटिस भेजने की तैयारी की है उनमें से छह हजार से अधिक ऐसे लोग है जिन्होंने मोटी कीमत वाली संपत्तियों की खरीद फरोख्त की है जबकि 6600 मामले मोटी रकम के लेन-देन से जुड़े हुये है।
    सीबीडीटी ने कहा, ऐसे मामले जिनमंे जवाब नहीं मिला है, की भी विस्तृत जांच की जाएगी।ह्णह्ण एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि अभियान का यह चरण शुरू करने से पूर्व संदिग्ध नकद जमा की पहचान के लिए आधुनिक डेटा विश्लेषण का इस्तेमाल किया गया है।  इस वर्ष 31 जनवरी को शुरू हुए स्वच्छ धन अभियान के पहले चरण के तहत विभाग ने ऑनलाइन प्रश्न पूछे थे और 17.92 लाख लोगों की जांच की थी जिसका 9.46 लाख लोगों ने ही जवाब दिया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here