भारतीय ठगों ने कॉल सेंटर के जरिए अमेरिकियों को लगाया करोड़ों का चूना

कॉल सेंटर
कॉल सेंटर

कॉल सेंटर के जरिए भारतीय ठगों ने लगाय अमेरिकियों को करोड़ों का चूना

अहमदाबाद में स्थापित कॉल सेंटर के जरिए भारतीय युवकों ने अमेरिकियों से करोड़ों रूपए ठग लिए।
अमेरिका में हुए कई लाखों डॉलर के घोटाले में अपनी संलिप्तता को लेकर एक 28 वर्षीय भारतीय नागरिक  हर्ष पटेल ने अपना दोष स्वीकार कर लिया है।
इस घोटाले में भारत में स्थित कॉल सेंटरों के कर्मचारी अमेरिकी कर और आव्रजन अधिकारी बनकर अमेरिका भर के लोगों को अपना शिकार बनाते थे।
न्यूजर्सी में रहनेवाले हर्ष पटेल तीसरे भारतीय नागरिक है जिसने हजारों अमेरिकियों को अपना शिकार बनाने वाले इस घोटाले में अपनी भूमिका को स्वीकार किया है।
पिछले साल अक्तूबर में एक संघीय ग्रैंड ज्यूरी द्वारा लगाये गये आरोप के बाद से अब तक पटेल के साथ 50 अन्य व्यक्तियों और भारत स्थित पांच कॉल सेंटरों पर इस धोखाधडी और धन शोधन मामले में उनकी भूमिकाओं को लेकर आरोप तय किया गया था।
पटेल ने टेक्सास के अमेरिकी डिस्ट्रक्टि कोर्ट के जज डेविड हिटनर के समक्ष अपना दोष स्वीकार किया। अब सात अगस्त, 2017 को सजा सुनायी जाएगी।
अमेरिका के न्याय विभाग ने एक बयान में कहा कि संबंधित याचिका में लगाये गये आरोप के मुताबिक, पटेल और उसके सहयोगी साजिशकर्ताओं ने अमेरिका भर में लोगों को ठगने की सामूहिक योजना बनाई थी जिसमें अहमदाबाद स्थित कॉल सेंटरों के कर्मचारियों ने स्वयं को आंतरिक राजस्व सेवा या अमेरिकी नागरिकता या आव्रजन सेवाओं का अधिकारी बताकर धोखाधडी की।
पटेल से पहले भरत कुमार पटेल और अश्विनभाई चौधरी ने इस धोखाधडी और धन शोधन मामले में अपना जुर्म कबूल किया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here