पंचांग-19 दिसम्बर 2017

कलियुगाब्द…………….5119
विक्रम संवत्…………..2074
शक संवत्……………..1939
रवि………………..दक्षिणायन
मास……………………….पौष
पक्ष………………………शुक्ल
तिथी………………….प्रतिपदा
दोप 02.39 पर्यंत पश्चात द्वितीया
तिथि स्वामी…………..ब्रह्मा
नित्यदेवी………………..चित्रा
सूर्योदय……….07.01.29 पर
सूर्यास्त……….05.46.14 पर
नक्षत्र………………………मूल
प्रातः 10.09 पर्यंत पश्चात पूर्वाषाढ़ा
योग……………………….वृद्धि
दुसरे दिन प्रातः 04.49 पर्यंत पश्चात ध्रुव
करण……………………….बव
दोप 02.39 पर्यंत पश्चात बालव
ऋतु……………………….हेमंत
दिन…………………..मंगलवार

🇬🇧 आंग्ल मतानुसार :-
19 दिसम्बर सन 2017 ईस्वी |

☸ शुभ अंक………….1
🔯 शुभ रंग………..काला

👁‍🗨 राहुकाल :
दोप 03.02 से 04.22 तक ।

🚦 दिशाशूल :-
उत्तरदिशा –
यदि आवश्यक हो तो गुड़ का सेवन कर यात्रा प्रारंभ करें।

चौघडिया :-
प्रात: 09.44 से 11.03 तक चंचल
प्रात: 11.03 से 12.23 तक लाभ
दोप. 12.23 से 01.43 तक अमृत
दोप. 03.02 से 04.22 तक शुभ
रात्रि 07.22 से 09.02 तक लाभ ।

🎶 आज का मंत्र :-
|| ॐ अम्बिकाये नमः ||

🎙 संस्कृत सुभाषितानि :-
अष्टावक्र गीता – विंश अध्याय :-
क्व सृष्टिः क्व च संहारः
क्व साध्यं क्व च साधनं।
क्व साधकः क्व सिद्धिर्वा
स्वस्वरूपेऽहमद्वये॥२०- ७॥
अर्थात :-
अपने अद्वय (दूसरे से रहित) स्वरुप में स्थित मेरे लिए क्या सृष्टि है और क्या प्रलय, क्या साध्य है और क्या साधन, कौन साधक है और क्या सिद्धि है॥७॥

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here