‘लव जिहाद’ को लेकर आदमी को कुल्हाड़ी से काटा और जला दिया, आरोपी गिरफ्तार

जयपुर,  राजस्थान के राजसमंद जिले में एक शख्स को कथित तौर पर ‘लव जेहाद’ के नाम पर बेरहमी से कुल्हाड़ी और दरांती से काट कर मार डाला और जला दिया। स्तब्ध कर देने वाली इस घटना का वीडियो तेजी से वायरल हुआ। पुलिस ने आरोपी शंभुनाथ रायगर को गुरुवार को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने बताया कि मृतक की पहचान पश्चिम बंगाल के मालदा जिले के अफराजुल के रूप में की गई है।

इससे पहले पुलिस ने उसकी पहचान मोहम्मद भट्टा शेख के रूप में की थी।

राजस्थान के गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया ने विशेष जांच दल (एसाआईटी) को घटना की जांच का आदेश दिया है।

पुलिस के मुताबिक हत्या के आरोप में मामला दर्ज किया गया और मामले में तथ्य सामने आने पर और भी संबंद्ध धाराएं जोड़ी जाएंगी।

अफराजुल चालीस से ज्यादा की उम्र का मजदूर था। उसकी मां ने बताया कि उनकी बेटे से बुधवार की सुबह बात हुई थी, जिसके तुरंत बाद उसकी हत्या कर दी गई। वह अपने बेटे की हत्या का वायरल हुआ वीडियो देखकर भयभीत हैं। उन्होंने आरोपी को कठोर से कठोर सजा देने की मांग की है।

पुलिस जब गुरुवार को घटनास्थल पर पहुंची तो कुत्ते और पक्षी लाश को नोंच-नोंच कर खा रहे थे।

रपट के मुताबिक रायगर, अफराजुल के साथ मित्रवत था। उसने अफराजुल को प्रलोभन देकर देकर खेतों में ले गया था, जहां उसने कुल्हाड़ी और दरांती से उसके ऊपर कई वार किए और फिर पेट्रोल डालकर जला दिया। इस पूरी रक्तरंजित घटना का रायगर के नाबालिग भतीजे ने वीडियो बनाया और इंटरनेट पर अपलोड किया। उसने घटना स्थल पर तीन पृष्ठ का एक पत्र भी छोड़ा।

पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार ने कहा कि आरोपी को वीडियो में लव जिहाद जैसे मसलों पर बोलते हुए देखा जा सकता है। वह यह कहते भी सुना जा रहा है कि वह बहन की अपमान का बदला ले रहा है। पुलिस के मुताबिक रायगर ने हत्या के इरादे से नई कुल्हाड़ी खरीदी थी।

रायगर को केलवा से गिरफ्तार किया गया जब वह अपनी स्कूटी से मंदिर जा रहा था।

एसपी कुमार ने कहा कि रायगर से पूछताछ जारी है। पुलिस ने कानून व व्यवस्था पर निगाह बनाई हुई है। राजसमंद में इंटरनेट सेवा रोक दी गई है। शहर और आसपास अतिरिक्त पुलिस बल तैनात किए गए हैं।

एसपी मनोज कुमार ने आईएएनएस से कहा कि पुलिस को राजसमंद जिले के राजनगर में एक अधजले शव के पड़े होने की सूचना मिली थी।

वह एएसपी मनीष त्रिपाठी व डीएसपी राजेंद्र सिंह के साथ घटनास्थल पर पहुंचे, जहां उन्हें विकृत अवस्था में शव मिला।

इसके फौरन बाद फोरेंसिक साइंटिफिक लैब (एफएसएल) टीम व श्वान दस्ते को बुलाया गया।

पुलिस महानिदेशक ओ.पी. गेलहोत्रा ने घटना को ‘कोल्ड ब्लडेड मर्डर’ करार देते हुए कहा कि पुलिस आरोपी के लिए सबसे कड़ी सजा की मांग करेगी। उन्होंने कहा, “हम (अदालत में) आरोपी के लिए फांसी की सजा की मांग करेंगे।” उन्होंने इसे ‘रेयरेस्ट आफ रेयर केस’ करार दिया।

उन्होंने आरोपी को 24 घंटे के अंदर पकड़ने के लिए राजस्थान पुलिस की प्रशंसा की।

यह पूछने पर कि क्या यह घटना राज्य के सौहार्द को बिगाड़ने के लिए की गई है, डीजीपी ने कहा कि इसे इस तरह की बातों से नहीं जोड़ना चाहिए। इसे एक ‘साइको’ आदमी की करतूत माना जाना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here