चार राज्य जीतने के लिए अमित शाह ने लगाई अपनी टीम

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 को 35 ए को सफलतापूर्वक हटाए जाने के बाद भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की निगाह चार राज्यों के विधानसभा चुनाव पर टिकी हुई है। इन चुनावों में पार्टी की बड़ी जीत सुनिश्चत करने के लिए केन्द्रीय मंत्रियों को चुनाव वाले राज्यों का प्रभारी बनाया गया है। प्रभारी के साथ एक सह प्रभारी भी नियुक्त किया गया है।

नरेन्द्र सिंह तोमर को हरियाणा की जिम्मेदारी

भाजपा शासित राज्य हरियाण में चुनाव प्रभारी की जिम्मेदारी केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर को सौंपी गई है। तोमर,पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के मंत्री हैं। कृषि मंत्रालय भी उनके पास है। तोमर की मदद के लिए उत्तरप्रदेश सरकार के मंत्री भूपेन्द्र सिंह को विधानसभा चुनाव के लिए सह प्रभारी बनाया गया है। हरियाणा में विधानसभा की कुल 90 सीटें हैं। इसका कार्यकाल 2 नवंबर को समाप्त हो रहा है। संभावना है कि चुनाव आयोग सितंबर में विधानसभा चुनाव की घोषणा कर देगा।

दिल्ली जीतने के लिए लगाए तीन केन्द्रीय मंत्री

अरविन्द केजरीवाल के नेतृत्व वाली आम आदमी पार्टी से दिल्ली की सरकार छिनने के लिए अमित शाह ने तीन केन्द्रीय मंत्रियों को विधानसभा चुनाव का जिम्मा सौंपा है। सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावडेकर को प्रभारी नियुक्त किया गया है। दो सह प्रभारी हरदीप सिंह पुरी और नित्यानंद राय हैं। प्रदेश संगठन प्रभारी के तौर पर श्याम जाजू और राष्ट्रीय सचिव कार्यरत रहेंगे।

झारखंड में नहीं लगाया केन्द्रीय मंत्री

झारखंड विधानसभा चुनाव के प्रभारी की जिम्मेदारी पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ओमप्रकाश माथुर को सज्ञैंपी गई है। उनके साथ बिहार सरकार के मंत्री नंदकिशोर यादव को सह प्रभारी के तौर लगाया गया है। झारखंड विधानसभा के चुनाव भी नवंबर में संभावित हैं।


भूपेन्द्र यादव महाराष्ट विधानसभा चुनाव के प्रभारी


पार्टी के राष्ट्रीय महामंत्री भूपेन्द्र यादव को महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के लिए प्रभारी बनाया गया है। उत्तरप्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य और कर्नाटक के पूर्व विधायक लक्ष्मण सावदी को सह प्रभारी बनाया गया है। महाराष्ट्र में विधानसभा की कुल 288 सीटें हैं। इसका कार्यकाल नवंबर में समाप्त हो रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here