मंडलोई को बुलावा या वापसी

मंडलोई को बुलावा या वापसी, गोपाल रेड्डी के अलावा दो अन्य अधिकारी नीरज मंडलोई और पवन शर्मा की भी केन्द्र सरकार से वापसी हो रही है। मंडलोई और
मंडलोई को बुलावा या वापसी, गोपाल रेड्डी के अलावा दो अन्य अधिकारी नीरज मंडलोई और पवन शर्मा की भी केन्द्र सरकार से वापसी हो रही है। मंडलोई और

मंडलोई को बुलावा या वापसी

 

गोपाल रेड्डी के अलावा दो अन्य अधिकारी नीरज मंडलोई और पवन शर्मा की भी केन्द्र सरकार से वापसी हो रही है। मंडलोई और शर्मा दोनों ही वक्त से पहले गृह संवर्ग में वापस लौट रहे हैं। नीरज मंडलोई मार्च 2014 में केन्द्रीय प्रतिनियुक्ति पर गए थे।

वे शहरी विकास मंत्रालय में संयुक्त सचिव के पद पर पदस्थ थे। प्रशासनिक चर्चा यह है कि केन्द्रीय शहरी विकास मंत्री वेंकैया नायडू को उनके काम में ऐब नजर आया।

इस कारण उन्हें गृह राज्य वापस भेज दिया। मंडलोई 1993 बैच के अधिकारी हैं। 1999 बैच के अधिकारी पवन शर्मा दिल्ली सरकार के सचिवालय में तैनात थे। वे वर्ष 2013 में प्रतिनियुक्ति पर गए थे।

दिल्ली सरकार के सचिवालय की आवोहवा ऐसी नहीं है कि वहां काम करने में राहत महसूस हो। नौकरी हमेशा दांव पर लगी रहती है। इस कारण वे भी मध्यप्रदेश में लौट आए हैं। वे सचिव स्तर के अधिकारी हैं। नीरज मंडलोई भी अभी सचिव स्तर में ही है।

 

उनके बैच को पदोन्न्ति के लिए वर्ष 2018 का इंतजार करना होगा। नियम 25 साल की सेवा पूर्ण करने पर प्रमुख सचिव वेतनमान में पदोन्नति का है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here