Home Authors Posts by पावर गैलरी डेस्क

पावर गैलरी डेस्क

2508 POSTS 0 COMMENTS

राशिफल :कर्क राशि वालों के घर में शुभ कार्य का दिन 

aaj ka rashifal
राशिफल :कर्क राशि वालों के घर में शुभ कार्य का दिन

मेष राशि :- आज परिवार में किसी शुभ कार्यक्रम की रूपरेखा बनेगी। किसी व्यावसायिक कार्य के लिए यात्रा पर जा सकते हैं। विद्यार्थी अपना समय पढ़ाई में व्यतीत करेंगे। आप फिट रहेंगे। भाग्य का पूरा साथ मिलेगा। नौकरी में आपको कुछ सुनहरे अवसर प्राप्त होंगे। सामाजिक स्तर पर आपकी लोकप्रियता में वृद्धि होगी। गायत्री मंत्र का जाप करें, स्वास्थ्य बेहतर रहेगा। शुभ अंक – 7 और शुभ रंग – हरा है।

वृषभ राशि :- आज आप माता-पिता के साथ किसी धार्मिक स्थान पर जा सकते हैं। घर में किसी नए मेहमान के आने की संभावना है। आपका मन प्रसन्न रहेगा। जीवन-साथी के साथ तालमेल रहेगा। घर में किसी दोस्त के आने से खुशियों का माहौल रहेगा। लवमेट के लिए दिन बहुत अच्छा है। कोई बड़ा ऑफर पाकर आप पैसे कमा सकते हैं। आपको अपनी सभी समस्याओं का समाधान आसानी से मिल जाएगा। सूर्य देव को जल अर्पित करें, धन लाभ होगा। शुभ अंक – 8 और शुभ रंग – श्वेत है।

मिथुन राशि :- आज आर्थिक स्थिति अनुकूल बनी हुई है। हालाँकि, इसे स्थिर होने में कुछ और समय लग सकता है। किसी काम के चलते आपको यात्रा कार्यक्रम रद्द करना पड़ सकता है। आपको किसी के प्रति अपनी राय अपने तक ही रखनी चाहिए। घर में आपकी मदद से कई काम पूरे हो सकते हैं। तली-भुनी चीजें खाने से बचना चाहिए। इससे आपका स्वास्थ्य ठीक रहेगा। छोटे बच्चे को कलम उपहार में दें, आपकी सभी समस्याओं का समाधान होगा। शुभ अंक – 1 और शुभ रंग – स्लेटी है।

कर्क राशि :- आज आप अपनी ऊर्जा का उपयोग अच्छे कार्यों में कर सकते हैं। सरकारी कर्मचारियों को लाभ मिल सकता है। शैक्षणिक कार्यों में आपकी रुचि बढ़ सकती है। किसी काम में आपको अपने जीवन साथी का सहयोग मिल सकता है। घर का माहौल खुशनुमा रहेगा। घर में जल्द ही कोई शुभ कार्य होने के भी संकेत हैं। ऑफिस में काम समय पर पूरे होंगे। आप सभी की तालियों के पात्र होंगे। शिव चालीसा का पाठ करें, लाभ के अवसर प्राप्त होंगे। शुभ अंक – 6 और शुभ रंग – केसरी है।

सिंह राशि :- पारिवारिक परेशानी बढ़ सकती है अत्यधिक क्रोध के कारण आपके द्वारा किया गया कोई काम बिगड़ सकता है। आपको अपने गुस्से पर नियंत्रण रखने की जरूरत है। आपके दांपत्य जीवन में नई चेतना आ सकती है। सोच-समझकर निर्णय लेने से आपको सफलता मिल सकती है। कुल मिलाकर आपका दिन मिला-जुला रहेगा। पक्षियों को खिलाओ, तुम्हारे साथ सब अच्छा होगा। शुभ अंक – 4 और शुभ रंग – नीला है।

कन्या राशि :- आज आपका स्वास्थ्य सामान्य रहेगा। किसी अनजान व्यक्ति पर विश्वास करने से बचें, यह आपके लिए अच्छा रहेगा। जरूरतमंद मित्रों की ओर आप मदद का हाथ बढ़ा सकते हैं। आपकी आर्थिक स्थिति सामान्य रहेगी। विद्यार्थियों को अधिक मेहनत करने की जरूरत है। मेहनत का फल आपको अवश्य मिलेगा। पैसों को लेकर आपको थोड़ा सावधान रहना चाहिए। मंदिर में कुछ समय बिताएं, आपकी सभी मनोकामनाएं पूरी होंगी। शुभ अंक – 8 और शुभ रंग – पीला है।

तुला राशि :- आज आपका दिन बेहतर रहेगा। जो लोग कपड़े के व्यवसाय से जुड़े हैं उन्हें उम्मीद से अधिक लाभ मिल सकता है। आपकी आर्थिक स्थिति मजबूत होगी। ऑफिस में किसी सहकर्मी से आपकी दोस्ती हो सकती है। कला और साहित्य से जुड़े लोगों के लिए दिन शुभ रहेगा। आपको अपना हुनर ​​दिखाने के सुनहरे मौके मिलेंगे। भगवान गणेश जी को मोदक का भोग लगाएं, आपके साथ सब अच्छा होगा। शुभ अंक – 1 और शुभ रंग – गुलाबी है।

वृश्चिक राशि :- आज आपके मन में कई तरह के विचार आएंगे। आपका कोई जरूरी काम समय पर पूरा होगा। संतान पक्ष से कोई शुभ समाचार मिलेगा। घर में छोटी सी पार्टी का आयोजन करेंगे। घर का माहौल खुशनुमा रहेगा। आप कोई नया काम कर ने की सोच सकते हैं, जिससे आपको और धन लाभ के अवसर मिलेंगे। जरूरतमंद को भोजन कराएं, धन में वृद्धि अवश्य होगी। शुभ अंक – 4 और शुभ रंग – भूरा है। powergallery.in/news/india/अक्षय-तृतीया-पौराणिक-महा/34096/

धनु राशि :- आज आपका मन अध्यात्म की ओर अधिक झुक सकता है। आप किसी धार्मिक स्थान पर दर्शन के लिए जा सकते हैं। आप हर काम को धैर्य और समझदारी से पूरा करने का प्रयास कर सकते हैं। किसी से मदद मांगने में संकोच न करें, आज का दिन आपका है। आपके विचार से अधिकांश काम पूरे हो सकते हैं। आप कड़ी मेहनत करेंगे। बड़ों का आशीर्वाद लें, सभी कार्यों में सफलता मिलेगी। शुभ अंक – 2 और शुभ रंग – ग्रे है।

मकर राशि :- आज आपका दिन मिलाजुला रहेगा। आप किसी पुराने दोस्त से मिलने उसके घर जा सकते हैं। आपको शहर से बाहर यात्रा करने से बचना चाहिए। काम के अधिक बोझ के कारण आप थकान महसूस कर सकते हैं। आप बच्चों के साथ समय बिता सकते हैं। आप उन लोगों से जुड़ने की कोशिश करेंगे जिनसे आपको कुछ सीखने को मिल सकता है। सुबह-शाम मंदिर में घी के दीपक जलाएं, आप स्वस्थ महसूस करेंगे। शुभ अंक – 5 और शुभ रंग – महरून है।

कुम्भ राशि :- आज आपका दिन व्यस्त रह सकता है। लेन-देन के मामलों से आपको बचना चाहिए। आपको अनावश्यक विवादों से भी दूर रहने की कोशिश करनी चाहिए। आपको अपने जीवन-साथी का सहयोग मिल सकता है। अपनी निजी बातें दूसरों के साथ साझा करने से बचें। पिता से आर्थिक मदद मिल सकती है। आप बेहतर महसूस करेंगे । बहते जल में तिल प्रवाहित करें, परिस्थितियाँ आपके अनुकूल रहेंगी। शुभ अंक – 3 और शुभ रंग – आसमानी है।

मीन राशि :- आज आपके दिन की शुरुआत ताजगी के साथ होगी। आपकी आर्थिक स्थिति मजबूत होगी। आर्थिक प्रगति के नए रास्ते खुलेंगे। इस राशि के छात्रों के लिए आज का दिन बेहतर है। शादीशुदा लोगों के दांपत्य जीवन में खुशियां आएंगी। आज ऑफिस में काम समय पर पूरे होंगे। नए कार्य में आपको लाभ होगा। सुबह उठकर धरती माता को प्रणाम करें, आपका दिन मंगलमय होगा। शुभ अंक – 9 और शुभ रंग – संतरी है।

अक्षय तृतीया पौराणिक महात्म्य एवं शीघ्र विवाह और धन प्राप्ति के लिए शुभ उपाय

प्रदेश कार्यालय में विराजे भगवान श्री गणेश
मुख्यमंत्री एवं प्रदेश अध्यक्ष ने की पूजा-अर्चना

भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश कार्यालय पं.दीनदयाल परिसर के सामने स्थित नए कार्यालय परिसर में गणेश चतुर्थी के अवसर पर भगवान श्री गणेश की प्रतिमा स्थापित की गई।

मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान एवं भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद श्री विष्णुदत्त शर्मा ने विधि विधान से पूजा-अर्चना के साथ भगवान गणेश जी की प्रतिमा स्थापित की।

पार्टी के नए कार्यालय परिसर में गणेश जी की प्रतिमा स्थापना के उपरांत आरती एवं प्रसाद वितरण किया गया।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान एवं प्रदेश अध्यक्ष श्री विष्णुदत्त शर्मा ने प्रदेशवासियों एवं पार्टी कार्यकर्ताओं को गणेश चतुर्थी की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि भगवान गणेश सभी का मंगल करें

प्रदेशवासियों के जीवन में सुख समृद्धि लाएं।इस अवसर पर प्रदेश शासन के मंत्री श्री ब्रिजेन्द्र प्रताप सिंह, प्रदेश महामंत्री श्री भगवानदास सबनानी, श्री सरदेंदू तिवारी, प्रदेश कार्यालय मंत्री डॉ. राघवेन्द्र शर्मा, प्रदेश मीडिया प्रभारी श्री लोकेन्द्र पाराशर, किसान मोर्चा के अध्यक्ष श्री दर्शन सिंह चौधरी, पिछड़ा वर्ग मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष श्री नारायण सिंह कुशवाह,

प्रदेश प्रवक्ता सुश्री नेहा बग्गा,

सोशल मीडिया विभाग

के प्रदेश संयोजक श्री अभिषेक शर्मा, आईटी विभाग के

प्रदेश संयोजक श्री अमन शुक्ला, मध्यप्रदेश गृह निर्माण मंडल के अध्यक्ष श्री आशुतोष तिवारी, मध्यप्रदेश रोजगार एवं कौशल विकास बोर्ड के अध्यक्ष श्री शैलेन्द्र शर्मा, श्री किशन सूर्यवंशी,

श्री विकास विरानी, श्री विकास बोंद्रिया, श्री राहुल राजपूत, श्री सतीष विश्वकर्मा, श्री जगदीश यादव, श्री राजेन्द्र गुप्ता, श्री सुनील पाण्डे, श्री राजेश हिंगोरानी,

श्री लीलेन्द्र मारण, श्री अजय पाटीदार, श्री राकेश शर्मा, श्रीमती वंदना पटेल, श्री सुनील चौहान, श्री प्रयागराज रघुवंशी, श्री गीत धीर, श्रीमती ममता मीणा सहित कार्यालय परिवार के सदस्य उपस्थित रहे।

अक्षय तृतीया पौराणिक महात्म्य एवं शीघ्र विवाह और धन प्राप्ति के लिए शुभ उपाय

अक्षय तृतीया पौराणिक महात्म्य एवं शीघ्र विवाह और धन प्राप्ति के लिए शुभ उपाय

हिन्दुओ के प्रमुख त्योहार में से एक अक्षय तृतीया 3 मई मंगलवार के दिन मनाई जाएगी जानिए इस दिन विशेष की कुछ महत्वपुर्ण जानकारी।
वैशाख शुक्ल तृतीया को अक्षय तृतीया कहते हैं, यह सनातन धर्मियों का प्रधान त्यौहार है, इस दिन दिये हुए दान और किये हुए स्त्रान, होम, जप आदि सभी कर्मोंका फल अनन्त होता है – सभी अक्षय (जिसका क्षय या नाश ना हो) हो जाते हैं ; इसी से इसका नाम अक्षय हुआ है,
अक्षय तृतीया अभिजीत मुहुर्त
स्वयंसिद्ध साढे तीन मुहूर्त के रुप में अक्षय तृतीया का बहुत अधिक महत्व है। धर्म शास्त्रों में इस पुण्य शुभ पर्व की कथाओं के बारे में बहुत कुछ विस्तार पूर्वक कहा गया है. इनके अनुसार यह दिन सौभाग्य और संपन्नता का सूचक होता है. दशहरा, धनतेरस, देवउठान एकादशी की तरह अक्षय तृतीया को अभिजीत, अबूझ मुहुर्त या सर्वसिद्धि मुहूर्त भी कहा जाता है. क्योंकि इस दिन किसी भी शुभ कार्य करने हेतु पंचांग देखने की आवश्यकता नहीं पड़ती. अर्थात इस दिन किसी भी शुभ काम को करने के लिए आपको मुहूर्त निकलवाने की आवश्यकता नहीं होती. अक्षय अर्थात कभी कम ना होना वाला इसलिए मान्यता अनुसार इस दिन किए गए कार्यों में शुभता प्राप्त होती है. भविष्य में उसके शुभ परिणाम प्राप्त होते हैं।
हिन्दू समुदाय के अतिरिक्त जैन धर्म के लोग भी इस तिथि को बहुत महत्व देते है। इस दिन बिना पंचांग या शुभ मुहूर्त देखे आप हर प्रकार के मांगलिक कार्य जैसे विवाह, सगाई, गृह प्रवेश, वस्त्र आभूषण आदि की खरीदारी, जमीन या वाहन खरीदना आदि को कर सकते है। पुराणों में इस दिन पितरों का तर्पण, पिंडदान या अन्य किसी भी तरह का दान अक्षय फल प्रदान करता है। इस दिन गंगा में स्नान करने से सभी पाप नष्ट हो जाते है। इतना ही नहीं इस दिन किये जाने वाला जप, तप, हवन, दान और पुण्य कार्य भी अक्षय हो जाते है।
आज के दिन सूर्य और चंद्रमा दोनों उच्च राशि मे होते है।अतः मन और आत्मा दोनों से बलवान रहते है,तो आज आप जो भी कार्य करते है वो मन और आत्मा से जुड़ा रहता है ऐसे में आज का किया पूजा पाठ और दान पुण्य बहुत महत्वपूर्ण और प्रभावी होते है।
इसी तिथि को नर – नारायण, परशुराम और हयग्रीव – अवतार हुए थे; इसलिये इस दिन उनकी जयन्ती मनायी जाती है तथा इसी दिन त्रेतायुग भी आरम्भ हुआ था, अतएव इसे मध्याह्न व्यापिनी ग्रहण करना चाहिये, परंतु परशुरामजी प्रदोष काल में प्रकट हुए थे; इसलिये यदि द्वितीया को मध्याह्न से पहले तृतीया आ जाये तो उस दिन अक्षयतृत्तीया, नर – नारायण जन्मोत्सव, परशुराम जन्मोत्सव और हयग्रीव जन्मोत्सव सब सम्पन्न की जा सकती हैं और यदि द्वितीया अधिक हो तो परशुराम – जन्मोत्सव दूसरे दिन होता है। यदि इस दिन गौरीव्रत भी हो तो ‘ गौरी विनायकोपेता ‘ के अनुसार गौरीपुत्र गणेश की तिथि चतुर्थी का सहयोग अधिक शुभ होता है। अक्षयतृत्तीया बड़ी पवित्र और महान् फल देने वाली तिथि है, इसलिये इस दिन सफलता की आशा से व्रतोत्सवादि के अतिरिक्त वस्त्र, शस्त्र और आभूषणादि बनवाये अथवा धारण किये जाते है तथा नवीन स्थान, संस्था एवं समाज वर्ष की तेजी – मंदी जानने के लिये इस दिन सब प्रकार के अन्न, वस्त्र आदि व्यावहारिक वस्तुओं और व्यक्तिविशेषों के नामों को तौलकर एक सुपूजित स्थान में रखते हैं और दूसरे दिन फिर तौलवर उनकी न्यूनाधिकता से भविष्य का शुभाशुभ मालूम करते हैं, अक्षयतृत्तीया में तृत्तीया तिथि, सोमवार और रोहिणी नक्षत्र ये तीनों हों तो बहुत श्रेष्ठ माना जाता है, किसान लोग उस दिन चन्द्रमाके अस्त होते समय रोहिणी का आगे जाना अच्छा और पीछे रहे जाना बुरा मानते हैं !
मेष सोना, पीतल।
वृष चांदी, स्टील।
मिथुन सोना, चांदी , पीतल।
कर्क चांदी, वस्त्र।
सिंह सोना, तांबा।
कन्या सोना, चांदी, पीतल।
तुला चांदी, इलेक्ट्रॉनिक्स, फर्नीचर।
वृश्चिक सोना, पीतल।
धनु सोना, पीतल, फ्रिज, वाटर कूलर।
मकर सोना, पीतल, चांदी, स्टील।
कुंभ सोना, चांदी, पीतल, स्टील, वाहन।
मीन सोना, पीतल, पूजन सामग्री व बर्तन।
ग्रहों से सम्बंधित दान:
सूर्य लाल चंदन, लाल वस्त्र, गेहूं, गुड़, स्वर्ण, माणिक्य, घी व केसर का दान सूर्योदय के समय करना लाभप्रद होता है।
चंद्रमा चांदी, चावल, सफेद चंदन, मोती, शंख, कर्पूर, दही, मिश्री आदि का दान संध्या के समय में फलदायी है।
मंगल स्वर्ण, गुड़, घी, लाल वस्त्र, कस्तूरी, केसर, मसूर की दाल, मूंगा, ताम्बे के बर्तन आदि का दान सूर्यास्त से पौन घंटे पूर्व करना चाहिए।
बुध कांसे का पात्र, मूंग, फल, पन्ना, स्वर्ण आदि का दान अपराह्न में करें।
गुरु चने की दाल, धार्मिक पुस्तकें, पुखराज, पीला वस्त्र, हल्दी, केसर, पीले फल आदि का दान संन्ध्या के समय करना चाहिए।
शुक्र चांदी, चावल, मिश्री, दूध, दही, इत्र, सफेद चंदन आदि का दान सूर्योदय के समय करना चाहिए।
शनि लोहा, उड़द की दाल, सरसों का तेल, काले वस्त्र, जूते व नीलम का दान दोपहर के समय करें।
राहु तिल, सरसों, सप्तधान्य, लोहे का चाकू व छलनी व छाजला, सीसा, कम्बल, नीला वस्त्र, गोमेद आदि का दान रात्रि समय करना चाहिए।
केतु लोहा, तिल, सप्तधान, तेल, दो रंगे या चितकबरे कम्बल या अन्य वस्त्र, शस्त्र, लहसुनिया व बहुमूल्य धातुओं में स्वर्ण का दान निशा काल में करना चाहिए।

पंचांग दिनांक 02 मई 2022 का पंचांग

aaj ka rashifal
राशिफल :कर्क राशि वालों के घर में शुभ कार्य का दिन

दिन – सोमवार
विक्रम संवत – 2079 (गुजरात-2078)
शक संवत -1944
अयन – उत्तरायण
ऋतु – ग्रीष्म ऋतु
मास – वैशाख
पक्ष – शुक्ल
तिथि – द्वितीया 03 मई प्रातः 05:18 तक तत्पश्चात तृतीया
नक्षत्र – कृतिका रात्रि 12:34 तक तत्पश्चात रोहिणी
योग – सौभाग्य शाम 03:38 तक तत्पश्चात शोभन
राहुकाल – सुबह 07:45 से सुबह 09:22 तक
सूर्योदय – 06:8
सूर्यास्त – 19:02
दिशाशूल पूर्व दिशा में
व्रत पर्व विवरण – चंद्र-दर्शन

आज का हिन्दू पंचांग

aaj ka rashifal
राशिफल :कर्क राशि वालों के घर में शुभ कार्य का दिन

दिनांक – 29 अप्रैल 2022

दिन – शुक्रवार

विक्रम संवत – 2079 (गुजरात-2078)

शक संवत -1944

अयन – उत्तरायण

ऋतु – ग्रीष्म ऋतु

 मास – वैशाख (गुजरात एवं महाराष्ट्र के अनुसार चैत्र )

पक्ष – कृष्ण

तिथि – चतुर्दशी रात्रि 12:57 तक तत्पश्चात अमावस्या

नक्षत्र – रेवती शाम 06:43 तक तत्पश्चात अश्विनी

योग – विषकंभ शाम 03:43 तक तत्पश्चात प्रीति

  राहुकाल – सुबह 11:00 से दोपहर 12:36 तक

दिशाशूल – पश्चिम दिशा में

 व्रत पर्व विवरण – मासिक शिवरात्रि

माध्यमिक शिक्षा मंडल की 10वीं 12वीं का परीक्षा परिणाम घोषित 10वीं में 59.54 फ़ीसदी पास 12वीं में 72 फ़ीसदी पास

माध्यमिक शिक्षा मंडल की 10वीं 12वीं का परीक्षा परिणाम घोषित 10वीं में 59.54 फ़ीसदी पास 12वीं में 72 फ़ीसदी पास

छिंदवाड़ा में हुए घोटालों के पीछे जो भी है, उसे बख्शा नहीं जाएगा

छिंदवाड़ा आकर मुझे पता चला कि कमलनाथ सरकार के समय यहां साइन बोर्ड का बहुंत बड़ा घोटाला हुआ है। साइन बोर्ड के लिए 12 करोड़ के टेंडर हुए और 9 करोड़ का पेमेंट कर दिया गया। पांच सौ करोड़ का डीएमएफ घोटाला हुआ। इनके अलावा सिंचाई घोटाला हुआ। इन घोटालों के पीछे कौन है? किसे टेंडर दिया गया और पेमेंट किया गया? इन घोटालों से किसे फायदा हुआ, इन प्रश्नों के जवाब तो जांच से मिल जाएंगे, लेकिन इतना तय है कि इन घोटालों के लिए जो भी जिम्मेदार हैं, उन्हें बख्शा नहीं जाएगा। हम सरकार से भी इस संबंध में बात करेंगे। यह बात भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद श्री विष्णुदत्त शर्मा ने सोमवार को छिंदवाड़ा में पत्रकार वार्ता के दौरान कही।

गांधी जी के नाम का उपयोग करने वालों ने उनके लिए क्या किया?

श्री शर्मा ने कहा कि राहुल जी और सोनिया जी गांधी जी के नाम का उपयोग तो करते हैं, लेकिन गांधी जी से उनका लेना देना क्या है? कभी आपने गांधी जी के बारे में मंथन किया है कि उन्होंने इस देश के लिए क्या किया है? आपने इतने सालों तक देश पर राज तो किया, लेकिन गांधी जी के साथ क्या किया? आपने सिर्फ गांधी जी के नाम का दुरुपयोग किया, कभी उनके विचारों को लेकर जनता के बीच नहीं गए और उन विचारों को जमीन पर उतारने का काम कभी नहीं किया। श्री शर्मा ने कहा कि हमारा देश अब जागरूक हो गया है और वो इन सवालों के जवाब चाहता है।

प्रदेश संगठन नं.1 कैसे बने, इस पर चर्चा

प्रदेश अध्यक्ष श्री विष्णुदत्त शर्मा ने कहा कि मेरा छिंदवाड़ा प्रवास एक संगठनात्मक प्रवास है। छिदवाड़ा से मेरा लंबा जुड़ाव रहा है, जब जिलों के चुनाव थे तब भी छिंदवाड़ा की जिम्मेदारी मेरे पास थी। यहां के लोगों से मिलना चलता ही रहा है। उन्होंने कहा कि छिंदवाड़ा हमारे एजेंडे का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। छिंदवाड़ा में संगठन की मजबूती के लिए हमें क्या काम करना है, इस पर स्थानीय वरिष्ठ कार्यकर्ता जिन्होंने पार्टी को अपनी अथक मेहनत और त्याग से सींचकर खड़ा किया है, उनके साथ बैठकर चर्चा की गई। हमारे जिला अध्यक्ष, मंडल अध्यक्ष एवं वरिष्ठ कार्यकर्ताओं के साथ बैठकर तय किया गया कि संगठन मजबूती के लिए किन-किन क्षेत्रों में हमें काम करने का जरूरत है। उन्होंने कहा कि भाजपा मध्यप्रदेश का संगठन पूरे भारत में एक आइडियल ऑर्गनाइजेशन है, जिसकी जिम्मेदारी मेरे जैसे सामान्य कार्यकर्ता को दी गई है। यह हम सब की जिम्मेदारी है कि सामूहिकता के साथ, टीम भावना से काम करते हुए विभिन्न पैरामीटर्स पर प्रदेश संगठन को देश में नं.-1 बनाएं।

कार्यकर्ता हमारे लिए महत्वपूर्ण

प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी एक केडरबेस्ड आर्गनाइजेशन है। हम जो भी काम करते हैं, उसके पीछे बूथ के कार्यकर्ता की ताकत होती है, वह हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण है। प्रधानमंत्री जी ने शपथ लेते समय कहा था कि भाजपा के करोड़ों कार्यकर्ताओं की मेहनत के कारण मैं आज यहां हूं। प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि बूथ कार्यकर्ता के यहां भोजन करना कोई दिखावा नहीं है। किसी भी चुनाव को जीतने के लिए बूथ एक महत्वपूर्ण इकाई है। बूथ अध्यक्ष के घर जाकर बूथ समिति से चर्चा करते हैं, जिससे कार्यकर्ताओं में यह भाव उत्पन्न हो कि बूथ हमारा प्रमुख आधार स्तंभ है। हमने प्रत्येक मंडल अध्यक्ष से भी पूछा है कि बूथ की मजबूती के लिए क्या किया जा सकता है। मंडल अध्यक्षों के साथ उनकी भूमिका पर चर्चा हुई है। इस बात पर भी चर्चा हुई है कि उन्हें पार्टी को सर्वव्यापी, सर्वस्पर्शी बनाना है। कोई ऐसा वर्ग या समाज न छूटे, जो भाजपा से न जुड़ा हो। जो हमें विरोधी कहते हैं, हमें उनका भी विश्वास जीतना है। इन सभी बिंदुओं पर हमने आज चर्चा की है।


जन आकांक्षाओं का प्रतिबिंब होगा हमारा घोषणा पत्र

श्री शर्मा ने कहा कि हमने यह तय किया है कि नगर निकाय चुनाव में घोषणा-पत्र भाजपा का होगा, लेकिन जनमत की अपेक्षाओं के आधार पर तैयार होगा। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान अधिकारियों के साथ नगरीय क्षेत्रों के विकास का रोडमेप बनाने का काम कर रहे हैं। हम संगठन के कार्यकर्ताओं, प्रबुद्धजनों के साथ चर्चा करके यह जानना चाहते हैं कि नया छिंदवाड़ा कैसा हो, उनके सपनों का छिंदवाड़ा कैसा हो? इसके लिए हम ईमेल और व्हाट्सअप नंबर जारी किए हैं, लोग हमें पत्र के माध्यम से भी क्षेत्र के विकास के लिए सुझाव दे सकते हैं। श्री शर्मा ने कहा कि छिंदवाड़ा के विकास के लिए हमें मीडिया के मित्रों के सुझाव भी चाहिए, क्योंकि मीडिया समाज को आइना दिखाता है।

प्रधानमंत्री जी ने बढ़ाया भारत का मान, महापुरुषों को दिया सम्मान

प्रदेश अध्यक्ष श्री शर्मा ने कहा कि कोरोना संकट के उस दौर में प्रधानमंत्री जी फार्मा कंपनियों में गये और पूछा कि मानवता को बचाने के लिए आपको किन चीजों की जरूरत है? प्रधानमंत्री जी को बधाई देते हुए श्री शर्मा ने कहा कि उनकी इच्छाशक्ति के कारण ही वेक्सीन तैयार हुई और 24 देशों को उपलब्ध कराई गई है। उन्होंने कहा कि महात्मा गांधी के संकल्प को स्वच्छ भारत अभियान के रूप में प्रधानमंत्री जी ने जमीन पर उतारा है। स्टैच्यू ऑफ यूनिटी बनाकर लौह पुरुष सरदार वल्लभ भाई पटेल को पूरी दुनिया में सम्मान दिलाने का काम प्रधानमंत्री जी ने किया है। संविधान निर्माता डॉ. अंबेडकर और अनुसूचित जाति तथा जनजातियों को देश में सम्मान दिलाने का काम प्रधानमंत्री जी और भाजपा की सरकारों ने किया है। श्री शर्मा ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी देश में गरीबों को जीवन स्तर ऊंचा उठाने का काम कर रही है और प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में पूरा देश आगे बढ़ रहा है।

चतुर्थी के दिन विघ्नों और मुसीबते दूर करने के लिए गणपति और मंगल देव के मंत्र

Lord Ganesha , Ganesh Festival

शिव पुराण में आता हैं कि हर महीने के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी ( पूनम के बाद की ) के दिन सुबह में गणपतिजी का पूजन करें और रात को चन्द्रमा में गणपतिजी की भावना करके अर्घ्य दें।

विघ्नों और मुसीबते दूर करने के लिए और चतुर्थी के दिन ये मंत्र बोलें

ॐ गं गणपते नमः ।
ॐ सोमाय नमः ।

मंगल देव

भारतीय समय के अनुसार 02 मार्च 2021 को (सूर्योदय से 03 मार्च प्रात: 03:00 तक) चतुर्थी है, इस महा योग पर अगर मंगल ग्रह देव के 21 नामों से सुमिरन करें और धरती पर अर्घ्य देकर प्रार्थना करें तो आप ऋण से मुक्त हो सकते हैं.

मंगल देव के 21 नाम इस प्रकार हैं :-
मंगलाय नमः
भूमि पुत्राय नमः
ऋण हर्त्रे नमः
धन प्रदाय नमः
स्थिर आसनाय नमः
महा कायाय नमः
सर्व कामार्थ साधकाय नमः
लोहिताय नमः
लोहिताक्षाय नमः
साम गानाम कृपा करे नमः
धरात्मजाय नमः
भुजाय नमः
भौमाय नमः
भुमिजाय नमः
भूमि नन्दनाय नमः
अंगारकाय नमः
यमाय नमः
सर्व रोग प्रहाराकाय नमः
वृष्टि कर्ते नमः

वृष्टि हराते नमः
सर्व कामा फल प्रदाय नमः

दिनांक 01 मार्च 2021 का हिन्दू पंचांग

panchang
panchang

दिन – सोमवार
विक्रम संवत – 2077
शक संवत – 1942
अयन – उत्तरायण
ऋतु – वसंत
मास – फाल्गुन (गुजरात एवं महाराष्ट्र अनुसार – माघ)
पक्ष – कृष्ण
तिथि – द्वितीया सुबह 08:35 तक तत्पश्चात तृतीया
नक्षत्र – उत्तराफाल्गुनी सुबह 07:37 तक तत्पश्चात हस्त
योग – शूल दोपहर 12:56 तक तत्पश्चात गण्ड
राहुकाल – सुबह 08:27 से सुबह 09:55 तक
सूर्योदय – 07:00
सूर्यास्त – 18:41
(सूर्योदय और सूर्यास्त के समय मे जिलेवार अंतर संभव है)
दिशाशूल – पूर्व दिशा में
व्रत पर्व विवरण – तृतीया क्षय तिथि
विशेष – द्वितीया को बृहती (छोटा बैंगन या कटेहरी) खाना निषिद्ध है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)

विस्तृत के लिए देखें http://powergallery.in/

बालवीर कर पाएगा हाथी के क्रोध का सामना!

ballveer
baalveer

बालवीर रिटर्न्स एक चौंकाने वाला ट्विस्ट लाने के लिए बिलकुल तैयार है।

बालवीर रिटर्न्स के आने वाले एपिसोड्स आपको हर सीन के साथ रोमांच की गारंटी देते हैं।

विवान (वंश सयानी) को अपने जाल में फंसाने में असफल होने के बाद, रे एक साइबेरियन हाथी की मदद से बालवीर (देव जोशी) और विवान के समाज पर हमला करने की योजना बना रहा है।

एक रोमांचक सफर पर ले जाने के लिए तैयार हैं शो

अपनी शानदार वापसी के बाद, बालवीर अपनी सभी शक्तियों के साथ वीर लोक लौटता है।

बालवीर को खत्म करने के अपने प्रयास में असफल होने से हताश, रे (शोएब अली) साइबेरियन हाथी की मदद से धरती पर अगला कहर बरपाने की योजना बनाता है।

विवान का रूप धारण करके रे हाथी के बच्चे को उसकी मां से दूर ले जाता है।

अशांत और गुस्साई हथिनी मां विवान को ढूंढ़कर उसे ख़त्म करने के लिए सोसायटी में विचरण करती है और जो कुछ भी उसके रास्ते में आता है, उसे नष्ट कर देती है।

बालवीर उस हाथी को रोकने की कोशिश करता है, लेकिन उसकी शक्तियां कम हो जाती हैं,

और जल्द ही उसे यह एहसास होता है कि यह स्थिति उसके नियंत्रण से बाहर है।

वह हाथी विवान को मारने के लिए उसकी तरफ बढ़ता है, लेकिन करुणा तुरंत ही विवान की रक्षा के लिए उसके सामने खड़ी हो जाती है।

हाथी उसके बजाय करुणा को ही अपने साथ ले जाता है।

baalveer

देबू और विवान करुणा को कैसे बचाएंगे और हाथी के बच्चे को कैसे ढूंढेंगे?

बालवीर की भूमिका निभा रहे देव जोशी ने कहा, “बालवीर के रूप में वापसी करना बहुत ही रोमांचक था।

भूत की भूमिका खुद में ही एक बिलकुल नया अनुभव था लेकिन कहीं न कहीं मैं अपनी बालवीर की कॉस्ट्यूम पहनना मिस कर रहा था।

आगामी एपिसोड्स खुद में ही रोमांचक और देखने लायक हैं।

देबू और विवान के सामने एक बहुत बड़ी समस्या आने वाली है

क्योंकि करुणा को एक क्रोधित हाथी लेकर चला गया है और

अब उनका सबसे बड़ा टास्क ये है कि वो हाथी को बच्चे को ढूंढकर वो करुणा को वापस लेकर आए।

लेकिन उनके सामने जो असली संघर्ष है वो ये है कि

विवान और देबू को इस बात का बिलकुल भी अंदाज़ा नहीं है कि हाथी का बच्चाि आखिर कहां है।

यह देखना वाकई दिलचस्प होगा कि वो छोटे हाथी को खोजने की कोशिश कैसे करते हैं

और क्या वह करुणा को सही समय पर बचाने में सक्षम होते हैं।”

शूटिंग करने का अनुभव बहुत मज़ेदार रहा: वंश सयानी

विवान की भूमिका अदा कर रहे वंश सयानी ने कहा, “आगामी एपिसोड्स की कहानी मुझे बहुत ही पसंद आई और उसके लिए शूटिंग करने का अनुभव बहुत मज़ेदार रहा।

इसके सभी विज़ुअल बहुत ही शानदार होने वाले हैं क्योंकि हम अपने प्रशंसकों और दर्शकों के लिए हर हफ्ते विवान और देबू का एक नया सफर लाने के अपने वादे के साथ खड़े हैं।

इस हफ्ते, विवान और देबू एक विशाल साइबेरियन हाथी के खिलाफ खड़े है

और यह देखना वाकई दिलचस्प होगा कि वो दोनों इस चुनौती से कैसे निपटते हैं

क्योंकि विवान की मां, करुणा की ज़िंदगी दांव पर लगी हुई है।”

विस्तृत के लिए देखें http://powergallery.in/

डिएगो माराडोना चला गया: वो 10 नम्बर की जर्सी वाला ‘हैंड ऑफ गॉड’

फुटबॉलर डिएगो माराडोना
फुटबॉलर डिएगो माराडोना

डिएगो माराडोना अर्जेंटीना के महान फुटबॉलर का बुधवार को 60 साल की उम्र में निधन हो गया है।

माराडोना का निधन हार्ट अटैक की वजह से हुआ है।

बता दें कि माराडोना को अपने घर पर ही हार्ट अटैक आया था।

दो सप्ताह पहले ही उन्हें ब्रेन में क्लॉट की वजह से सर्जरी करवानी पड़ी थी।

माराडोना ने 30 अक्तूबर को अपना 60वां जन्मदिन मनाया था।

चार फीफा विश्व कप खेल चुके माराडोना ने अपनी कप्तानी में अर्जेंटीना को 1986 में विश्व कप जीत दिलाई थी।

डिएगो माराडोना हैंड आफ गॉड के नाम से मशहूर थे

फुटबॉलर डिएगो माराडोना
फुटबॉलर डिएगो माराडोना

फाइनल से पहले इंग्लैंड के खिलाफ क्वार्टर फाइनल में मैराडोना के दो गोल से अर्जेंटीना 2-1 से जीता था,

लेकिन उनके दोनों गोल चर्चा में रहे थे।

इनमें से खासकर पहला गोल काफी विवादित रहा था।

बता दें कि अर्जेंटीना ने 1986 से पहले 1978 में अपनी मेजबानी में भी खिताब पर कब्जा जमाया था।

हाथ से लगकर गोल पोस्ट में गई थी

गेंद मैराडोना के हाथ से लगकर गोल पोस्ट में गई थी पर रेफरी इसे देख नहीं सके

और इसे गोल मान लिया गया। मैराडोना ने इसे भगवान की मर्जी बताते हुए इसे ‘हैंड ऑफ गॉड’ नाम दिया था

जोकि आज तक इसी नाम से मशहूर है। वहीं, इसके चार मिनट बाद ही उन्होंने ऐसा खूबसूरत गोल दागा

जिसे सदी का सर्वश्रेष्ठ गोल (गोल ऑफ द सेंचुरी) कहा गया।

मैराडोना ने इंग्लिश गोलकीपर सहित पांच खिलाड़ियों को चकमा देते हुए यह गोल किया था। मैराडोना ने टूर्नामेंट में कुल पांच गोल किए थे।

विस्तृत के लिए देखें http://powergallery.in/