Home Authors Posts by आदर्श गौतम

आदर्श गौतम

aadarshgautam007@gmail.com'
88 POSTS 0 COMMENTS

पश्चिम बंगाल: ममता राज में भाजपा को फिर लगा झटका, रथ यात्रा को कोर्ट ने किया रद्द

गुरुवार को कलकत्ता हाईकोर्ट ने भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की पश्चिम बंगाल में रथ यात्रा को लेकर हरी झंडी दिखाई थी। वहीं कोर्ट ने शुक्रवार को इस मामले में अपना फैसला पलट दिया है और यात्रा पर रोक लगा दी है। बता दें कि पश्चिम बंगाल में भाजपा रथयात्रा 7 दिसंबर को कूचबिहार से शुरू करने वाली थी, दूसरी रथ यात्रा 9 दिसंबर को 24 परगना से और तीसरी 14 दिसंबर को बीरभूमि के तारापीठ से निकालने वाली थी। लेकिन ममता बनर्जी की सरकार ने इसकी इजाजत नहीं दी, जिससे मामला कलकत्ता हाईकोर्ट चला गया और हाईकोर्ट ने इन रथ यात्राओं के निकलने पर रोक लगा दी थी।

 

सोहराबुद्दीन एनकाउंटर केस: सीबीआई की विशेष अदालत ने सभी 22 आरोपियों को किया बरी

शुक्रवार को सोहराबुद्दीन एनकाउंटर मामले में सीबीआई की विशेष अदालत ने सभी 22 आरोपियों को सबूतों के अभाव के कारण बरी कर दिया है। बता दें कि सुनवाई के दौरान फैसला सुना रहे जज एस के शर्मा ने कहा कि इस मामले में तीन लोगों की मौत काफी दुखद है, पर हम कानून के हिसाब से काम करते हैं और गवाहों और सबूतों के अभाव में हम कुछ नहीं कर सकतें है। इस वजह से आरोपियों को बरी किया जा रहा है।

2005 का है मामला, 2010 मेंं सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई को सौंपा केस: 

मध्यप्रदेश के अपराधी सोहराबुद्दीन शेख का एनकाउंटर 26 दिसंबर 2005 को गुजरात एटीएस और राजस्थान एसटीएफ ने अहमदाबाद के नजदीक किया था। वहीं एक साल बाद 28 दिसंबर 2006 को सोहराबुद्दीन के सहयोगी तुलसीराम प्रजापति को भी एक मुठभेड़ में मार गिराया गया।  2010 से इस मामले की जांच सीबीआई कर रहा था। 2007 में तुलसी प्रजापति की मां ने सुप्रीम कोर्ट में फेक एनकांउटर का आरोप लगाया जिसके बाद ये मामला सीआईडी को सौंपा गया। बाद में 2010 में इस केस को कोर्ट ने सीबीआई को दिया गया।

मध्यप्रदेश: दिल्ली पहुंचे सीएम कमलनाथ, मंत्रीमंडल गठन पर राहुल गांधी के करेंगे मुलाकात

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री बनने के बाद पहली बार दिल्ली पहुंचे कमलनाथ आज कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात करेंगे। दिल्ली पहुंचे कमलनाथ राहुल गांधी से मध्यप्रदेश के मंत्रीमंडल को लेकर नामों की चर्चा करेंगे। साथ ही मंत्रीमंडल में नामों को लेकर कमलनाथ ने कहा है कि पहली बार विधायक बनने वालो को फिलहाल मंत्रीमंडल से दूर रखा जाएगा। इसी के साथ नाथ ने बताया है कि 26 दिसंबर तक मंत्रियों के नाम पर मोहर लग जाएगी। जिन्हें विधानसभा के अगले सत्र में शपथ दिलाई जाएगी। वहीं दिल्ली जाने से पहले नाथ प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल से मुलाकत करके गए है, क्योंकि राज्यपाल 24 से 30 दिसंबर तक छुट्टी में रहेंगी।   

कांग्रेस के इन नेताओं के नामों पर लग सकती है मंत्री बनने की मोहर: 

15 साल बाद सरकार में आई कांग्रेस पार्टी के नेताओं में मंत्री बनने की होड़ मच गई है, वहीं देखा जाए तो मंत्री पद की दावेदारी मेंं सबसे आगे कांग्रेस के वरिष्ट नेताओं के नाम शामिल है। जिनमें बाला बच्चन, जीतू पटवारी, लक्ष्मण सिंह, जयवर्धन सिंह, गोविंद सिंह, के.पी.सिंह, कलावती भूरिया आरीफ अकील, आरीफ मसूद, पी.सी शर्मा, सज्जन सिंह वर्मा, दिपक सक्सेना जैसे नाम शामिल हैं।

गृह मंत्रालय: देेश की 10 जांच एजेंसियां कर सकेंगी किसी के भी कम्प्यूटर की जासूसी

गुरुवार को केंद्रीय गृह मंत्रालय के साइबर सुरक्षा एवं सूचना विभाग ने देश की शीर्ष 10 जांच एजेंसियों को किसी के भी कम्प्यूटर में बिना किसी आदेश के जांच करने की अनुमति दी है। केंद्र सरकार ने कहा है कि देश की सुरक्षा को बरकरार रखने और किसी भी प्रकार की देश विरोधी गतिविधियों को देखने और उस पर लगाम लगाने के लिए इस प्रकार के कदम उठाए जा रहें हैं। 

10 जांच एजेंसियों के नाम जो किसी के भी कम्प्यूटर की जांच कर सकते हैं: 

केंद्र सरकार के मुताबिक इंटेलिजेंस ब्यूरो, नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो, प्रवर्तन निदेशालय, सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्स, डायरेक्टरेट ऑफ रेवेन्यू इंटेलिजेंस, सीबीआई, एनआईए, कैबिनेट सेक्रेटेरिएट (रॉ), डायरेक्टरेट ऑफ सिग्नल इंटेलिजेंस और दिल्ली के कमिश्नर ऑफ पुलिस ये वो 10 जांच एजेंसियां हैं जिन्हें जांच का आदेश दिया गया है। साथ ही केंद्र सरकार ने कहा है कि सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम की धारा 69 के तहत यदि एजेंसियों को किसी भी संस्थान या व्यक्ति पर देशविरोधी गतिविधियों में शामिल होने का शक होता है तो वे उनके कंप्यूटरों में मौजूद सामग्रियों को जांच सकती हैं और उन पर कार्रवाई कर सकती हैं।

औवेसी ने आदेश का किया विरोध और कहा कि स्वागत है आपका 1984 में: 

केंद्र सरकार ने इस फेैसले का विपक्षी दलों ने जमकर विरोध किया है साथ ही इस आदेश को देश की जनता के निजता पर हमला बताया है। वहीं एआईएमआईएम के प्रमुख असदुद्दीन औवेसी ने ट्वीट कर कहा है कि ‘मोदी ने हमारी राष्ट्रीय एजेंसियों को हमारे संचार पर छेड़छाड़ करने की अनुमति देने के लिए एक सरल सरकारी आदेश का उपयोग किया है। कौन जानता था कि जब उन्होंने ‘घर घर मोदी’ कहा था तो उनका यही मतलब था। जॉर्ज ऑरवेल का बिग ब्रदर यहां है और 1984 में आपका स्वागत है।’

मध्यप्रदेश : कांग्रेस स्व. अटल बिहारी वाजपेयी के जन्मदिन पर मनाएगी ‘सुुशासन सप्ताह’

25 दिसंबर को भारतीय जनता पार्टी स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेयी के जन्मदिवस को पूरे देश में सुशासन दिवस के रुप में मनाती आ रही है। वहीं इस बार मध्यप्रदेश में 15 साल बाद सत्ता में वापस आई कांग्रेस पार्टी के मु्ख्यमंत्री कमलनाथ ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के जन्मदिन से एक दिन पहले से प्रदेश में सुशासन दिवस के रुप मे मनाए जाने का एैलान किया है।
जिसमें प्रदेश के सभी कर्मचारी और अधिकारियों को सुशासन की शपथ दिलाई जाएगी। बता दें कि अटलबिहारी वाजपेयी जी का इसी साल 16 अगस्त को 93 वर्ष की उम्र में दिल्ली स्थित एम्स अस्पताल में निधन हो गया था। 

सीएम कमलनाथ का आदेश 24 से 30 दिसंबर तक सुशासन दिवस मनाया जाएगा :

सीएम कमलनाथ ने मुख्यमंत्री का पद संभालने के साथ ही भाजपा से एक कदम आगे बढ़ते हुए आदेश जारी किया है कि पूरे प्रदेश में 24 दिसंबर से 30 दिसम्बर तक सुशासन सप्ताह मनाया जाएगा। 24 दिसंबर को अधिकारी और कर्मचारी सुशासन की शपथ लेंगे। भोपाल में मंत्रालय के सामने वल्लभ भाई पटेल पार्क में 11 बजे अधिकारियों और कर्मचारियों को सुशासन की शपथ दिलाई जाएगी। पूरे प्रदेश में इस दिन जिला मुख्यालयों पर सभा की जाएगी इसमें पूर्व प्रधानमंत्री स्व. अटल बिहारी वाजपेयी की फ़ोटो रखकर उसके सामने कर्मचारी सुशासन की शपथ लेंगे।

मप्र : कमलनाथ ने किया दूसरा वचन पूरा, अब पुलिसकर्मियों को सप्ताह में एक दिन का अवकाश मिलेगा

मध्यप्रदेश विधानसभा चुनावों के दौरान कांग्रेस पार्टी ने प्रदेश की जनता से कई वादे किए थे। जिसे कमलनाथ ने प्रदेश के मुख्यमंत्री पद की कमान संभालते ही अपने वादों और दावों को पूरा करने में लग गए हैं। मुख्यमंत्री का पदभार संभालने के 2 घंटे के अंदर ही कमलनाथ ने प्रदेश के किसानों का 2 लाख तक का कर्ज माफ करने वाली फाइल पर साइन कर इस प्रक्रिया की शुरुआत की। इसी कड़ी में बुधवार को पुलिस मुख्यालय पहुंचे मुख्यमंत्री कमलनाथ ने पुलिस कर्मियों को सप्ताह में एक दिन की छुट्टी देने के वादे को भी अब पूरा किया है। साथ ही प्रदेश की पूर्व भाजपा सरकार पर तंज कसते हुए कहा कि ‘मप्र की जनता को 15 साल बाद अहसास हुआ कि सरकार क्या होती है, वर्ना लोग विज्ञापन को ही सरकार बताते थे।  

बैठक में पुलिस के अधिकारियों को कई निर्देश दिए :

पुलिस मुख्यालय पहुंचे मुख्यमंत्री कमलनाथ को पुलिस के जवानों द्वारा ‘गार्ड ऑफ ऑनर’ से सम्मानित किया गया। उसके बाद पुलिस के आला अधिकारियों के साथ बैठकों का दौर शुरु हुआ,जिसमें कई निर्देश दिए गए। कमलनाथ ने कहा कि प्रदेश में किसी भी प्रकार की आपराधिक और गैैर कानूनी गतिविधियों पर जीरो टालरेंस रखा जाए। इसी के साथ सड़क दुर्घटनाओं को रोकने के लिए समग्र दृष्टिकोण के साथ रणनीति बनाने पर जोर दिया। वहीं प्रदेश में महिलाओं के प्रति बढ़ते अपराध को रोकने के लिए संवेदनशील दृष्टिकोण के साथ काम करने की हिदायत दी।

मध्यप्रदेश : शिवराज ने कहा ‘निश्चिंत रहो, टाइगर अभी जिंदा है’, पांच साल के अंदर भाजपा प्रदेश में वापसी करेगी

मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा के नेता शिवराज सिंह चौहान प्रदेश में भाजपा की हार के बाद बुंधवार को अपने विधानसभा क्षेत्र बुधनी पहुंचें। वहां पहुंचकर शिवराज ने बुधनी की जनता को इतने साल तक प्रदेश की बागडोर सौपने के लिए आभार व्यक्त किया। आभार संबोधन के दौरान शिवराज भावुक नजर आए और साथ ही वहां के लोगों को कहा कि ‘निश्चिंत रहो अभी टाइगर जिंदा है और क्या पता भाजपा की वापसी कांग्रेस के पांच साल पूरे होने से पहले ही हो जाए’।

भाजपा बहुमत से 7 सीट कम, वहीं कांग्रेस के पास 114 सीटें हैं :

मध्यप्रदेश में 28 नवंबर 2018 कोे हुए मतदान के बाद प्रदेश में 11 दिसंबर को आए परिणामों में कांग्रेस 114 सीटों को जीतने मेें कामयाब रही, वहीं 15 साल के प्रदेश में राज कर रही भाजपा को 109 सीटों पर ही संतोष करना पड़ा। प्रदेश की 2 सीट बहुजन समाज पार्टी और 1 सीट समाजवादी पार्टी के खाते में गई। साथ ही 4 सीटों पर निर्दलीय उम्मीदवारोंं ने बाजी मारी। इन आंकड़ो के साथ पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने अपने विधानसभा क्षेत्र बुधनी में बयान दिया है कि भाजपा पांच साल के अंदर  प्रदेश में फिर से वापसी कर सकती है।

मुंबई : रिपब्लिक टी.वी के कार्यक्रम में पीएम मोदी ने कहा ‘हमारा मीडिया वैश्विक पहचान बनाए ये समय की मांग है’

मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी महाराष्ट्र के एक दिवसीय दौरे में पहुंचे। इस दौरे के दौरान वो मुंबई, कल्याण, पुणे और नागपुर जाएंगें। पीएम मोदी ने दौरे कि शुरुआत रिपब्लिक टी.वी के कार्यक्रम ‘रिपब्लिक समिट’ में अपनों कामों को गिना कर किया। वहीं मोदी के इस दौरे का शिवसेना ने बहिष्कार किया है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि ‘हमारा मीडिया वैश्विक पहचान बनाए ये समय की मांग है। कई क्षेत्रों में देश को आगे बढ़ाने की जरुरत है। साथ ही हम नए भारत को बनाने का काम  कर रहें हैं। मोदी ने कहा कि मुंबई एैसा शहर है जो कभी नहीं रुकता है, उसी तरह भारत एैसा देश बनने जा रहा है जो कभी नहीं रुकेगा।

चार साल के कामों को मोदी ने मुंबई में गिनाया :

कार्यक्रम के दौरान पीएम मोदी ने कहा कि ‘क्या चार साल पहले किसी ने सोचा था कि भारत इतनी जल्दी फाइव ट्रिलियन डॉलर इकोनॉमिक के क्लब में शामिल होने की तरफ अपना कदम बढ़ा देगा, ईज़ ऑफ डूइंग बिजनेस की रैंकिंग में भारत 142 से 77 पर आ जाएगा और अब भारत टॉप 50 में आने की ओर बढ़ चला है, क्या किसी ने सोचा था कि भारत में एसी ट्रेन में चलने वाले लोगों से ज्यादा लोग हवाई सफर करने लगेंगे, रिक्शा चलाने वाला भी, सब्जी वाला भी और चायवाला भी BHIM App का इस्तेमाल करने लगेगा, अपनी जेब में रूपे डेबिट कार्ड रखकर अपना आत्मविश्वास बढ़ाएगा, भारत का एविएशन सेक्टर इतना तेज आगे बढ़ेगा कि कंपनियों को एक हजार नए हवाई जहाज का ऑर्डर देना पड़ेगा, भारत में नेशनल वॉटरवेज एक सच्चाई बन जाएंगे, कोलकाता से एक जहाज गंगा नदी पर चलेगा और बनारस तक सामान लेकर आएगा, भारत एक बार में सौ सैटेलाइट छोड़ने का रिकॉर्ड बनाएगा, गगनयान के लक्ष्य पर काम करेगा, Start Up की दुनिया से लेकर Sports की दुनिया में भारत की प्रतिष्ठा इतनी ज्यादा बढ़ जाएगी, एक दिन हेलीकॉप्टर घोटाले का इतना बड़ा राजदार, क्रिश्चियन मिशेल भारत में होगा, सारी कड़ियां जोड़ रहा होगा, 1984 के सिख नरसंहार के दोषी कांग्रेस नेताओं को सज़ा मिलने लगेगी, लोगों को इंसाफ मिलने लगेगा।’

छत्तीसगढ़ : तीसरे मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की ताजपोशी के साथ-साथ दो अन्य मंत्रियों ने ली शपथ

छत्तीसगढ़ प्रदेश बनने के बाद कांग्रेस के पहले निर्वाचित मुख्यमंत्री बने भूपेश बघेल को राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने शपथ दिलाई। भूपेश बघेल के साथ-साथ टी.एस सिंहदेव और ताम्रध्वज साहू ने भी मंत्री पद और गोपनीयता की शपथ ली। इस कार्यक्रम में कांग्रेस और राष्ट्रीय स्तर के नेता मौजूद रहे। शपथग्रहण के बाद कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, लोकसभा के प्रतिपक्ष के नेता मल्लिका अर्जुन खड़गे समेत सभी नेताओं ने स्टेज से हाथ उठाकर प्रदेश की जनता को संबोधित किया।

छत्तीसगढ़ : रायपुर पहुंचे राष्ट्रीय नेता, कुछ देर में प्रदेश के तीसरे मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे भूपेश बघेल

सन् 2000 में बने प्रदेश छत्तीसगढ़ के तीसरे मुख्यमंत्री के तौर पर कांग्रेस के नेता भूपेश बघेल कुछ ही देर मेें शपथ लेने वालें हैं। वहीं भूपेश बघेल के साथ-साथ प्रदेश के दो अन्य वरिष्ठ नेता टी.एस.सिंहदेव और ताम्रध्वज साहू भी मंत्री पद की शपथ लेंगे। शपथग्रहण समारोह में शपथ दिलवाने के लिए मध्यप्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल भी रायपुर पहुंच चुंकी है। साथ ही इस कार्यक्रम में कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी, सोनिया गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिहं, लोकसभा के नेता प्रतिपक्ष मल्लिका अर्जुन खड़गे, कर्नाटक के मुख्यमंत्री एच.डी कुमारस्वामी, जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला, टीएमसी नेता दिनेश त्रिवेदी और एलजेडी नेता शरद यादव समेत कई बड़े नेता इस कार्यक्रम मे मौजूद रहेंगे। साथ ही प्रदेश के 15 साल तक रहे मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह भी इस कार्यक्रम में शिरकत करेंगे।

बारिश की वजह से कार्यक्रम स्थल में परिवर्तन किया गया :

छत्तीसगढ़ बनने के बाद भूपेश बघेल कांग्रेस पार्टी के पहले निर्वाचित मुख्यमंत्री के ताजपोशी की तैयारी सबसे पहले रायपुर के साइन्स कॉलेज मैदान में की गई थी। पर भारी बारिश की वजह से कार्यक्रम को दीनदयाल इंडोर स्टेडियम में आयोजित करवाया जा रहा है।