इब्राहिम मोहम्मद सोलिह चुने गए मालदीव के राष्ट्रपति,हमेशा से भारत समर्थित रहे सोलिह

0
3

मालदिवियन डेमोक्रेटिक पार्टी (एमडीपी) के इब्राहिम मोहम्मद सोलिह मालदीव के राष्ट्रपति चुने गए है। रविवार को हुए राष्ट्रपति चुनाव में उन्होंने मौजूदा राष्ट्रपति अब्दुल्ला यामीन को हरा दिया। सोलिह को 58.3 प्रतिशत वोट हासिल हुए। जीत के बाद सोलिह ने अपने पहले भाषण में कहा, “यह पल खुशी और उम्मीद का है।” यामीन ने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है। इब्राहिम भारत के साथ मजबूत रिश्तों के हिमायती रहे हैं, जबकि यामीन का झुकाव चीन की तरफ रहा है।

 

राष्ट्रपति चुनाव में 88 फीसदी मतदान हुआ

54 साल के सोलिह को 262,000 हजार वोट में से 133808 वोट मिले, जबकि यामीन को 95,526 वोट मिले। राष्ट्रपति चुनाव में 88 फीसदी मतदान हुआ। इस चुनाव में कोई अन्य उम्मीदवार खड़ा नहीं हुआ था, क्योंकि उनमें से कई उम्मीदवार जेल में थे या फिर कुछ को देश छोड़ना पड़ा था। जीत की घोषणा के साथ ही सोलिह की एमडीपी का पीला झंडा लेकर समर्थक सड़कों पर उतर आए। सोलिह ने कहा कि यामीन को जनता की इच्छा का सम्मान करना चाहिए, क्योंकि जनाधार उनके खिलाफ आया है। उन्हें शांति से सत्ता हस्तांतरण करना चाहिए। उन्होंने राजनीतिक बंदियों को फौरन रिहा करने की अपील भी की।

विवादित रहा है यामीन का कार्यकाल

यामीन नवंबर 2013 में राष्ट्रपति बने थे। उनके कार्यकाल के दौरान राजनीतिक पार्टियों, अदालतों और मीडिया पर कार्रवाई की गई। यामीन के खिलाफ महाभियोग की कोशिश कर रहे सांसदों पर कार्रवाई की गई। इनमें से कई देश छोड़कर चले गए या कुछ को जेल में डाल दिया गया। दरअसल, मालदीव में इसी साल की शुरुआत में सुप्रीम कोर्ट ने सरकार को राजनीतिक बंदियों को छोड़ने का आदेश दिया था। राष्ट्रपति यामीन ने कोर्ट के आदेश को मानने से इनकार करते हुए वहां 15 दिन की इमरजेंसी लागू कर दी थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here