Breaking News
Home / breaking news / PM मोदी के ‘चहेते’ CBI अधिकारी ने माल्या को भगाया,अदालत की निगरानी में हो माल्या मामले की जांच:कांग्रेस

PM मोदी के ‘चहेते’ CBI अधिकारी ने माल्या को भगाया,अदालत की निगरानी में हो माल्या मामले की जांच:कांग्रेस

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने शराब कारोबारी विजय माल्या को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर फिर निशाना साधा है। उन्होंने सीबीआई के संयुक्त निदेशक ए.के शर्मा पर शराब कारोबारी विजय माल्या को देश से भगाने में मदद पहुंचाने का आरोप लगाया है। राहुल ने कहा कि ‘ए.के शर्मा नीरव मोदी और मेहुल चोकसी को भी भगाने की योजना के प्रभारी थे।’ उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि ए.के शर्मा सीबीआई में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ‘चहेते’ हैं।

राहुल ने शनिवार को अपने ट्वीट में कहा कि , ‘सीबीआई के संयुक्त निदेशक ए.के शर्मा ने माल्या के ‘लुक आउट’ नोटिस को कमजोर किया जिससे माल्या को विदेश भागने में मदद मिली। गुजरात कैडर के अधिकारी शर्मा, सीबीआई में प्रधानमंत्री के चहेते हैं। यही अधिकारी नीरव मोदी और मेहुल चोकसी के भी भागने की योजना का प्रभारी था। इसकी जांच होनी चाहिए। ‘

अदालत की निगरानी में हो माल्या मामले की जांच : कांग्रेस

कांग्रेस के मीडिया पैनल के सदस्य जयवीर शेरगिल ने ‘घपलेबाजों ‘ के लिए काम करने का आरोप लगाते हुये कहा कि बैंको का करोड़ों रूपये का ऋण लेकर फरार हुए विजय माल्या के मामले में सरकार और केंद्रीय जांच ब्यूरो पर विश्वास नहीं किया जा सकता तथा इसलिए उसके देश से भागने के संबंध में अदालत की निगरानी में स्वतंत्र जांच करायी जानी चाहिये।

कांग्रेस के मीडिया पैनल के सदस्य जयवीर शेरगिल

श्री शेरगिल ने कहा कि यह सरकार ‘कॉमन मैन’ (आम आदमी) की जगह ‘कॉन मैन’ (घपलेबाजों) के लिए काम कर रही है। उन्होंने दावा किया कि पिछले चार साल में 23 हजार बैंक घोटाले हुये हैं जिनमें घपलेबाजों ने बैंकों को 90 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा का चूना लगाया है। उन्होंने आरोप लगाया कि इस दौरान विजय माल्या, नीरव मोदी, मेहुल चोकसी और राजीव गोयल समेत 23 बड़े घपलेबाज बैंकों का पैसा लेकर सरकार की मदद से विदेश भाग चुके हैं।

कांग्रेस की मांग,भगोड़ों को देश छोड़कर जाने में किसने मदद की इसकी जांच हो

कांग्रेस ने मांग की कि सिर्फ माल्या ही नहीं सभी 23 भगोड़ों को देश छोड़कर जाने में किसने मदद की इसकी जांच होनी चाहिये। इन मामलों में सीधे प्रधानमंत्री, वित्त मंत्री और सीबीआई की जिम्मेदारी तय की जानी चाहिये। प्रधानमंत्री को संसद के माध्यम से देश को बताना चाहिये कि इन भगोड़े आर्थिक अपराधियों को कब तक देश वापस लाया जायेगा और आम लोगों का जो पैसा लेकर ये विदेश भागे हैं उसकी भरपाई कैसे की जायेगी।

क्या है मामला?

शराब कारोबारी विजय माल्या पर देश के बैंकों का हजारों करोड़ रुपया कर्ज लेकर फरार होने का आरोप है

शराब कारोबारी विजय माल्या पर देश के बैंकों का 9000 करोड़ से ज्यादा रुपए का कर्ज है। मगर कर्ज चुकाने से बचने के लिए ब्रिटेन में भगोड़े के रूप में रह रहा है। सरकार ने उसके प्रत्यर्पण के लिए ब्रिटेन की अदालत में अपील दाखिल कर रखी है जिसपर सुनवाई जारी है।

About Dinesh Gupta

Check Also

सांसदों,विधायकों के सदन के कार्यकाल के दौरान वकालत करने पर कोई रोक नहीं:सर्वोच्च न्यायालय

सर्वोच्च न्यायालय ने सांसदों और विधायकों के वकालत करने पर प्रतिबंध लगाने की मांग करने …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *