दैनिक भास्कर का चुनावी सर्वेक्षण प्रायोजित था, चुनाव परिणामों से उभरी आशंका?

0
4
मध्यप्रदेश में राजनीतिक प्रेक्षक चकित हैं। उनके अनुमान गड़बड़ा रहे हैं। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा विधानसभा चुनाव की घोषणा के पहले  शुरू की गई जन आशीर्वाद यात्रा में जन सैलाब उमड़ रहा है। लोग देर रात तक मुख्यमंत्री की सभा और उनका रथ देखने के लिए घंटों इंतजार कर रहे हैं । मुख्यमंत्री की इस जन आशीर्वाद यात्रा  मैं आ रही भीड़ से प्रेक्षक यह भविष्यवाणी करने लगे हैं कि राज्य में अगला चुनाव भी भारतीय जनता पार्टी ही जीतेगी । प्रत्यक्ष तौर पर ऐसा लगने का कारण कांग्रेस के नेताओं की शिथिलता है। प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष कमलनाथ पोलिंग स्टेशन से लेकर राज्य स्तर तक कार्यकर्ताओं को चुनाव के लिए तैयार करने में लगे हुए हैं। सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने प्रचार अभियान में तेजी नहीं दिखाइ।
दिग्विजय सिंह जमीन पर कार्यकर्ताओं के बीच एक होने की गुहार कर लगा रहे हैं। कसमें दिला रहे हैं।  कांग्रेस की एकता यात्रा और न्याय यात्रा अलग-अलग दिशाओं में निकल रही हैं । भीड़ भी आ रही है लेकिन, शिवराज सिंह चौहान की यात्रा के मुकाबले में कांग्रेस की यात्रााओं में  भीड़ काफी कम है।  शिवराज सिंह चौहान के कार्यक्रम में भीड़ होने की बड़ी वजह सरकारी मशीनरी है । यात्रा पूरी तरह से राजनीतिक और भारतीय जनता पार्टी के बैनर तले हो रही है। इसके बाद भी कार्यक्रम में सरकारी योजनाओं और शिलान्यास का मुख्यमंत्री मोह नहीं छोड़ पा रहे हैं । इससे यात्रा में यह फर्क करना मुश्किल हो रहा है कि मुख्यमंत्री यात्रा पर निकले हैं या भारतीय जनता पार्टी का नेता चुनावी यात्रा कर रहा है। प्रेक्षकों के अनुमान गड़बड़ा जाने की वजह  नगरी निकाय के चुनाव परिणाम हैं। राज्य में 14 स्थानों पर पार्षदों के चुनाव हुए थे । इनमें नौ पर कांग्रेस जीती है। चार स्थानों पर भारतीय जनता पार्टी को सफलता मिली है। एक निर्दलीय के खाते में गई है। राइट टू रिकॉल के तहत हुए खाली कुर्सी भरी कुर्सी के चुनाव में भी झटका भारतीय जनता पार्टी को लगा है। कांग्रेस अपने कब्जे वाली सीटों को बचाने में कामयाब रही। खाली कुर्सी भरी कुर्सी के लिए हुए चुनाव में भारतीय जनता पार्टी देवास जिले की करनावद नगर परिषद और राजगढ़ जिले के खिलचीपुर नगर परिषद अध्यक्ष को अपने हाथ से गंवा चुकी है।
इन दोनों स्थानों पर हाल ही में मतदान हुआ था। यह चुनाव परिणाम हंडी के एक चावल की तरह मतदाताओं के मूड़ को बताने वाले हैं।  मंगलवार 7 अगस्त को घोषित हुए चुनाव परिणाम दिलचस्प इसलिए भी रहे क्योंकि इसी दिन प्रदेश के सर्वाधिक  प्रसार संख्या वाले समाचार पत्र दैनिक भास्कर ने अपने ऑनलाइन सर्वेक्षण के आधार पर भारतीय जनता पार्टी की विधानसभा चुनाव में जीत की भविष्यवाणी की थी। नगरी निकाय के चुनाव परिणामों के बाद यह आशंका प्रबल हुई है कि दैनिक भास्कर के ऑनलाइन चुनावी सर्वेक्षण में भारतीय जनता पार्टी की आईटी टीम का बहुत बड़ा योगदान रहा है। संभव है कि कांग्रेस समर्थकों ने इस सर्वेक्षण में  अपनी राय कम रखी हो। भारतीय जनता पार्टी के लोगों ने बढ़ -चढ़कर हिस्सा लिया हो। मध्य प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष कमलनाथ ने उपचुनाव के नतीजों के बाद ट्वीट कर सीएम शिवराज सिंह चौहान और उनकी जनआशीर्वाद यात्रा पर कटाक्ष किया। कमलनाथ ने  लिखा कि जनआशीर्वाद यात्रा की जमीनी सच्चाई एवं डमरू की हकीकत इस परिणाम से प्रदेशवासियों के सामने आ गई है। मध्य प्रदेश बीजेपी के प्रवक्ता दीपक विजयवर्गीय के मुताबिक बीजेपी जिन जगहों पर हारी है वहां की समीक्षा की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here