Breaking News
Home / राज्य / उत्तर प्रदेश / मुजफ्फरनगर में कबाड़ी की दुकान में जबरदस्त धमाका, 4 की मौत

मुजफ्फरनगर में कबाड़ी की दुकान में जबरदस्त धमाका, 4 की मौत

[ad_1]

मुजफ्फरनगर। उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर जिले में सिविल लाइंस थाना क्षेत्र के सरवट रोड पर सोमवार को एक कबाड़ी की दूकान में विस्फोट हो गया।  इस विस्फोट की वजह से कबाड़ी समेत चार लोगों की मौत हो गई, वहीं तीन लोग घायल हो गए। पुलिस के साथ फायर ब्रिगेड की टीम मौके पर पहुंची। घायलों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है

मुजफ्फरनगर

सूचना मिलने पर मेरठ से सेना की टीम और एटीएस टीम पहुंची और सहारनपुर से भी बम निरोधक दस्ते की विशेष टीम को भी बुलाया गया। मौके पर डीआईजी और मेरठ से आईजी भी पहुंचे। विस्फोट सेना के डिफ्यूज हुए बम में होना बताया जा रहा है। पुलिस ने घटनास्थल को सील कर दिया है।

सिविल लाइंस इन्सपेक्टर के मुताबिक, मूल रूप से मुजफ्फरनगर जिले के गांव खुड्डा निवासी नवाजिश का सरवट रोड पर मकान है। मकान से लगी दुकान को किराए पर कबाड़ी निसार ने लिया हुआ था, जिसमें वह कबाड़ी का काम करता था। सोमवार सुबह दस बजे निसार अपनी दुकान में पड़े स्क्रैप को पेचकस-हथौड़े से तोड़ रहा था। वहीं अगल में बैठा मकान मालिक नवाजिश अखबार पढ़ रहा था।

इसी दौरान तेज विस्फोट हुआ, जिसकी चपेट में आकर कबाड़ी निसार के शव के चिथड़े उड़ गए और नवाजिश व पास ही वेल्डिंग की दुकान मालिक ताजिम की भी मौत हो गई। इसी दौरान वहां से बाइक से गुजर रहे खालापार निवासी शहजाद की भी विस्फोट की चपेट में आने से मौत हो गई।

विस्फोट की चपेट में आने से कौशर पत्नी कमरू, नौशाद पुत्र कय्यू और यूसुफ पुत्र अली हसन जख्मी हो गए। विस्फोट से मची अफरातफरी के बीच लोगों ने पुलिस को सूचना दी और मौके पर पहुंचे और सभी को अस्पताल पहुंचाया। जहां चिकित्सकों ने नवाजिश, ताजिम, और शहजाद को मृत घोषित कर दिया। वहीं घायल यूसुफ को मेरठ रेफर किया गया है।

पुलिस के अनुसार, विस्फोट इतना तेज था कि मृतक निसार के बाल छत पर जाकर चिपक गए। उसका क्षत विक्षत शव मौके पर ही मिला। आसपास के इलाके को सील कर दिया गया है।

एसएसपी अनंत देव ने बताया कि कुछ लोगों कबाड़ी को कुछ समान तोडते हुए देखा था। विस्फोट कैसे हुआ, इसकी जांच की जा रही है। मेरठ से एटीएस और आर्मी का एक जांच दल को मौके पर बुलाया गया है। जांच के बाद ही पूरे मामले का सच सामने आएगा।

 



[ad_2]
Source link

About admin

Check Also

हमारी काशी पहले भोले के भरोसे थी,काशी की पौराणिकता को बचाते हुए बदलाव का प्रयास:मोदी

उत्तर प्रदेश के वाराणसी से सांसद एवं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को बीएचयू के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *