Breaking News
Home / राज्य / उत्तर प्रदेश / बाबरी मस्जिद के पक्षकार इकबाल अंसारी ने सीएम से की वेदांती के खिलाफ कार्रवाई की अपील

बाबरी मस्जिद के पक्षकार इकबाल अंसारी ने सीएम से की वेदांती के खिलाफ कार्रवाई की अपील

[ad_1]




लखनऊ। राम जन्मभूमि न्यास के वरिष्ठ सदस्य डॉ. रामविलास दास वेदांती के अयोध्या राम जन्मभूमि मंदिर बयान के बाद विवाद बढ़ता नजर आ रहा है। उनके इस बयान का विरोध करते हुए बाबरी मस्जिद के पक्षकार इकबाल अंसारी ने कड़ा विरोध करते हुए मुख्यमंत्री से कार्रवाई की मांग की है।  डॉ. रामविलास दास वेदांती

न्यूज 18 से बातचीत में इकबाल अंसारी ने कहा कि जिस तरह से राम विलास वेदांती चुनौती दे रहे हैं। ये सरकार को चुनौती है। वह मुख्यमंत्री योगी और प्रधानमंत्री मोदी को चुनौती दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि इस तरह से बात करना सुप्रीम कोर्ट की तौहीन है। मामला सुप्रीम कोर्ट में है और आदेश राम विलास वेदांती जी दे रहे हैं। इकबाल अंसारी ने कहा कि हम मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मांग करते हैं कि इस तरह से बात करने वाले पर कानूनी कार्रवाई होनी चाहिए। ये अदालत की तौहीन कर रहे हैं, कानून का मजाक उड़ा रहे हैं। ये आदेश देने वाले होते कौन हैं?

इकबाल अंसारी ने कहा कि ये हिन्दू और मुसलमान के बीच नफरत पैदा कर रहे हैं। हिन्दू और मुसलमान दोनों मिलकर जीना चाहते हैं। इकबाल अंसारी ने कहा कि हम लोग कब तक सब्र करेंगे। 70 साल से हम कोर्ट का चक्कर लगाते-लगाते थक चुके हैं। अब ये अपने मन से कानून बना रहे हैं कि दो महीने में बना देंगे और अदालत का फैसला भी नहीं मानेंगे। इस तरह से बात करने वाले पर कानूनी कार्रवाई होनी चाहिए।

इकबाल अंसारी ने कहा कि हम मानते हैं कि देश में कानून व्यवस्था दुरुस्त है। यहां राम रहीम भी नहीं छोड़े गए। हम मानते हैं कि ऐसी बात करने वालों को सरकार बख्शेगी भी नहीं।

आपको बता दें कि राम जन्मभूमि न्यास के वरिष्ठ सदस्य डॉ।रामविलास दास वेदांती ने कहा था कि 2019 के पहले कभी भी राम मंदिर का निर्माण शुरू हो सकता है। उन्होंने कहा कि जिस तरीके से बाबरी मस्जिद गिराई गई उसी तरह रातो रत मंदिर का निर्माण किया जा सकता है।




शेयर करें



[ad_2]
Source link

About admin

Check Also

हमारी काशी पहले भोले के भरोसे थी,काशी की पौराणिकता को बचाते हुए बदलाव का प्रयास:मोदी

उत्तर प्रदेश के वाराणसी से सांसद एवं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को बीएचयू के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *