Breaking News
Home / राज्य / मध्य प्रदेश / Two students had molestation yong women, caught after 40 people interrogation 1575005

Two students had molestation yong women, caught after 40 people interrogation 1575005

[ad_1]

PreviousNext

Published: Sun, 25 Feb 2018 08:06 PM (IST) | Updated: Mon, 26 Feb 2018 07:53 AM (IST)

By: Editorial Team

two boys caught bhopal 2018226 74819 25 02 2018

संबंधित खबरें

भोपाल। राजधानी में आठ दिन पहले पारिवारिक कार्यक्रम से देर रात घर लौट रही सगी बहनों से सरेराह छेड़छाड़ करने, साथ ही उनकी मदद के लिए आए युवक से मारपीट करने के सनसनीखेज मामले में दो इंजीनियरिंग के छात्रों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

इस मामले में युवती की छोटी बहन द्वारा बाइक की चाबी निकाल लेना पुलिस के लिए अहम साक्ष्य साबित हुआ। लेकिन मौके पर मिली बाइक के जरिए आरोपियों तक पहुंचने के लिए करीब 40 लोगों से गहन पूछताछ करना पड़ी। दरअसल यह बाइक अभी तक 15 बार बिक चुकी है, लेकिन अभी भी उसका रजिस्ट्रेशन पहले मालिक के नाम पर ही दर्ज है।

एसपी साउथ राहुल लोढ़ा ने बताया कि भेल क्षेत्र में रहने वाली 24 वर्षीय युवती 16 फरवरी की रात में एक पारिवारिक कार्यक्रम में शामिल होने लालघाटी स्थित होटल गई थी। उसके साथ नौवीं में पढ़ने वाली उसकी छोटी बहन भी थी। रात में दोनों बहनें स्कूटी से अपने घर लौट रही थीं। रात करीब 12 बजे वह प्रगति पेट्रोल पंप चौराहा से जैसे ही आगे बढ़ीं,तभी बाइक सवार मनचलों ने छेड़छाड़ करते हुए उनका पीछा करना शुरू कर दिया।

वे उनका पीछा करते हुए डेढ़ किमी. दूर सावरकर सेतु तक गए। इस बीच हबीबगंज नाका के पास अमर नाम का युवक, युवतियों की मदद के लिए आया, तो आरोपितों ने उसके साथ बेरहमी से मारपीट करना शुरू कर दी थी।

अमर को बचाने युवतियां उन युवकों से भिड़ गईं। इस दौरान युवती की छोटी बहन ने युवकों की बाइक की चाबी निकालकर अपने पास रख ली। पुलिस आने की आशंका से आरोपी बाइक क्रमांक एमपी-04-एमआर-7035 मौके पर छोड़कर फरार हो गए थे।

इस मामले में पुलिस ने साकेत नगर में रहने वाले पंकज दमाहे (20) और शुभम पटेल (21) को गिरफ्तार कर लिया है। दमोह निवासी पंकज टीआईटी कॉलेज और बालाघाट का रहने वाला शुभम ओरिएंटल कॉलेज में बीई थर्ड ईयर के छात्र हैं।

होशंगाबाद, बुदनी, औबेदुल्लागंज में भी बिक चुकी है बाइक

एसडीओपी विजय पुंज ने बताया कि बाइक बरामद होने के बाद उसके मालिक की तलाश करने में पुलिस का खासी मशक्कत करना पड़ी। दरअसल बाइक खरीदे जाने से लेकर अभी तक 16 बार बिक चुकी है,लेकिन रजिस्ट्रेशन अभी तक पहले मालिक के नाम पर ही है। इस दौरान बाइक होशंगाबाद, बुदनी, औबेदुल्लागंज में रहने वाले लोग इस बाइक को खरीद चुके थे।

टीआई ललितसिंह डांगुर ने बताया कि बाइक साकेत नगर में रहने वाले छात्र अविनकर के नाम पर रजिस्टर्ड थी। वहां पता चला कि इस पते पर किराए से रहने वाला छात्र कई साल पहले चला गया है। मकान मालिक ने इतना भर बताया कि उसके पिता शिवपुरी में स्टेट बैंक में मैनेजर थे।

पुलिस ने बैंक के मुख्यालय से सरनेम के आधार पर जानकारी जुटाई तो पता चला कि वर्तमान में वह गुना में पदस्थ हैं। पुलिस ने उन्हें तलब किया तो पता चला कि जिस बेटे के नाम बाइक थी, वह वर्तमान में मुंबई में आर्टिस्ट का कोर्स कर रहा है।

पुलिस ने फोन से उससे बाइक के बारे में पूछा तो उसने बताया कि वह उसने जिंसी में एक मैकेनिक के माध्यम से बेच दी थी। मैकेनिक से पूछताछ करने के बाद एक-एक कर पुलिस ने बाइक के 15 मालिकों से बातचीत की। इनमें मैनिट में पढ़ चुका एक अफगानी छात्र भी शामिल है।

इसके बाद मुख्य आरोपितों के बारे में सुराग लगा। दोनों छात्र घटना के बाद फरार होकर अपने दमोह और बालाघाट स्थित घर चले गए थे। पुलिस ने वहां से उन्हें गिरफ्तार कर लिया। इस सफलता में डीआईजी भोपाल धर्मेंद्र चौधरी ने पुलिस टीम को 15 हजार रुपए का नकद इनाम देने की घोषणा की है।



[ad_2]
Source link

About admin

Check Also

दैनिक भास्कर से अलग कैसे है एवीपी न्यूज का मध्यप्रदेश का चुनावी सर्वे

देश का सबसे बड़ा अखबार होने के दावा करने वाले दैनिक भास्कर ने पिछले सप्ताह …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *