‘पद्मावती’ विवाद : जयपुर के नाहरगढ़ किले में लटका मिला शव

0
3

जयपुर/नई दिल्ली,  फिल्म ‘पद्मावती’ को लेकर विरोध बढ़ता जा रहा है। नाहरगढ़ किले की दीवार से शुक्रवार सुबह एक 40 वर्षीय शख्स का शव लटका मिला। शव के पास पत्थर पर ‘पद्मावती’ के विरोध में संदेश लिखे हुए थे।

नेशनल अवॉर्ड विजेता अभिनेता प्रसेनजीत चटर्जी व अभिनेत्री रानी मुखर्जी ने फिल्म के निर्माता-निर्देशक व अभिनेताओं के खिलाफ हिसा पर चिंता जाहिर की।

वहीं, नई दिल्ली में एक मेट्रो स्टेशन के बाहर कुछ लोगों ने फिल्म निर्माता संजय लीला भंसाली का पुतला भी जलाया।

हालांकि, भंसाली व वायाकॉम18 मोशन पिक्चर्स को राहत भी मिली।

दिल्ली उच्च न्यायालय ने फिल्म ‘पद्मावती’ की जांच के लिए इतिहासकारों व सामाजिक कार्यकर्ताओं की एक विशेषज्ञ समिति बनाने की मांग वाली जनहित याचिका खारिज कर दी।

अदालत ने कहा कि इस तरह की ‘आशाहीन व मिथ्या विचार वाली’ याचिका फिल्म का विरोध करने वालों को प्रोत्साहित करती है।

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि वह फिल्म व उसके दल का स्वागत करने के लिए तैयार हैं। ममता ऐसा कहने वाली पहली मुख्यमंत्री हैं। ‘पद्मावती’ की रिलीज का चार राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने विरोध किया है।

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के समर्थन वाले हिंदू समूह फिल्म पर लगाई जा रही अटकलों को लेकर इसके खिलाफ हैं, जिसमें फिल्म पर राजपूत रानी पद्मावती व राजपूत संस्कृति को तोड़-मरोड़ कर पेश करने की बात कही गई है।

जयपुर में पुलिस ने कहा कि वे यह पता करने की कोशिश में जुटे हैं कि क्या 40 साल के व्यक्ति की मृत्यु का ‘पद्मावती’ विवाद से लेनादेना है या नहीं। व्यक्ति का शव नाहरगढ़ किले की बाहरी दीवार पर पाया गया था।

शव के बगल में किले की दीवार के पत्थर पर लिखे संदेश में कहा गया है, “हम पुतले नहीं जलाते..हम लटका देते हैं।”

जयपुर (उत्तर) के पुलिस उपायुक्त सत्येंद्र सिंह ने आईएएनएस से कहा कि मृतक की पहचान चेतन सैनी के रूप में हुई है। वह जयपुर के शास्त्री नगर का निवासी है। सैनी आभूषण व हस्तशिल्प का व्यवसायी था।

सिंह ने कहा कि यह साफ नहीं है कि यह हत्या है या आत्महत्या और चट्टान पर लिखे संदेश को ‘पद्मावती’ से जोड़ना जल्दबाजी होगी।

राजपूत करणी सेना ने मामले में किसी तरह की संलिप्तता होने से इनकार किया है। करणी सेना ‘पद्मावती’ का मुखर तौर पर विरोध करती रही है।

फिल्म पहले एक दिसंबर को रिलीज होनी थी, लेकिन अब इसे टाल दिया गया है।

प्रसेनजीत चटर्जी ने कहा, “जिस तरीके से इस फिल्म के साथ हो रहा है, निर्देशक ऐतिहासिक फिल्में बनाना बंद कर देंगे।”

रानी मुखर्जी ने कहा कि वह भंसाली के साथ हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here