Breaking News
Home / राज्य / उत्तर प्रदेश / इस लड़की की वजह से फिर शुरू हुआ हिंदू-मुस्लिम, सोशल मीडिया पर मचा कोहराम

इस लड़की की वजह से फिर शुरू हुआ हिंदू-मुस्लिम, सोशल मीडिया पर मचा कोहराम

लखनऊ। राजनीतिक गलियारों में आपने हिंदू-मुस्लिम मामलों पर विवाद होते सुना होगा। लेकिन बीते दिन सोमवार को राजधानी की एक लड़की ने कुछ ऐसा किया। जिससे एक बार फिर हिंदू-मुस्लिम संग्राम की आग भड़क गई और सोशल मीडिया पर लोग अपनी-अपनी राय पेश करने लगे। धीरे-धीरे बवाल इतना बढ़ गया कि बीच में दखल देने के लिए एयरटेल को खुद आना पड़ा, जिसके बाद मामले में थोड़ी नरमी दिखाई दी।

उत्तर प्रदेश में कांग्रेस तलाश रही बैसाखी, सपा ने किया किनारा

हिंदू-मुस्लिम

बता दें लखनऊ की एक मैनेजमेंट प्रोफेशनल पूजा सिंह ने सोमवार को एक मुस्लिम एयरटेल टेक्नीकल रिप्रजेंटेटिव की सेवाएं लेने से सिर्फ इसलिए इंकार कर दिया, क्योंकि वह एक मुस्लिम था। देखते ही देखते यह मुद्दा सोशल मीडिया पर वायरल हो गया।

पूजा को पूर्व कांग्रेसी नेता शहजाद जय हिंद, भाजपा एमपी उदित राज, और शिरोमणि अकाली दल के विधायक मनजिंदर सिंह सिरसा जैसे लोग फॉलो करते हैं।

खबरों के मुताबिक़ लखनऊ की पूजा सिंह नाम की एक युवती ने एयरटेल डिश नेटवर्क को कनेक्शन से संबंधित एक समस्या के लिए सोमवार दोपहर करीब 3 बजे एयरटेल कस्टमर केयर फोन किया। इस पर नेटवर्क ऑपरेटर एक्जीक्यूटिव शोएब ने पूजा सिंह को असिस्ट किया।

48 के हुए राहुल गांधी, कांग्रेस में जश्न का माहौल, जन्मदिन…

इस पर पूजा ने अपने ट्विटर अकाउंट पर लिखा कि डियर शोएब, क्योंकि आप एक मुस्लिम हो और मेरी आपकी कार्यशैली में कोई आस्था नहीं है… इसलिए आपसे निवेदन है कि किसी हिंदू रिप्रजेंटेटिव को मुझे असिस्ट करने को कहें।

शुरुआत में एयरटेल ने पूजा सिंह के निवेदन पर एक सिख रिप्रजेंटेटिव गगनजोत यह काम सौंप दिया गया। हालांकि पूजा के इस कमेंट पर ट्विटर पर तीखी बहस छिड़ गई।

बड़ी संख्या में लोगों ने इस कट्टरता को नकार दिया, वहीं कुछ लोग ऐसे भी थे, जो पूजा के समर्थन में आ गए।

मामला बढ़ता देख एयरटेल ने पूजा को अपना जवाब लिखा, जिसके अनुसार, “एयरटेल अपने ग्राहकों, कर्मचारियों और साझेदारों के बीच जाति और धर्म के आधार पर भेद नहीं करता है। हमारी विनती है कि आप भी ऐसा कोई भेद ना करें।

शोएब और गगनजोत हमारी कस्टमर केयर टीम के सदस्य हैं। यदि कोई कस्टमर हमसे संपर्क करता है तो जो भी रिप्रजेंटेटिव पहले मौजूद होगा, वहीं ग्राहकों को असिस्ट करेगा। आपकी समस्या को लेकर हम जल्द ही किसी अपडेट के साथ आपसे संपर्क करेंगे।”




Source link

About admin

Check Also

SSP दीपक कुमार के तबादले पर HC ने प्रदेश सरकार से मांगा जवाब, पूछा- किस आधार पर किया गया ट्रांसफर

लखनऊ। बीते चार जुलाई को लखनऊ यूनिवर्सिटी में हुए उपद्रव मामले …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *